बिहार में कोरोना के 344 केस आए सामने, कुछ दिनों से बढ़ रहे मामले

Advertisement

कोरोना के तीव्र गति से बढ़ रहे मामले को केंद्र में रख सरकार कोई कठोर निर्णय ले सकती है। जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद सोमवार को संवाददाताओं से बातचीत के क्रम में मुख्यमंत्री ने यह बात कहीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से अचानक कोरोना के मामले बढ़ गए हैैं, वह काफी दुखद है। बड़े स्तर पर लोगों को अलर्ट रहना होगा। दवा और आक्सीजन की कोई कमी नहीं है।

जनता दरबार मेें पहुंचे आधा दर्जन फरियादी पाजिटिव पाए गए

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा कि सोमवार की सुबह जब वह आइजीआइएमएस जा रहे थे, तो उन्हें बताया गया कि अपनी शिकायत लेकर पहुंचा एक व्यक्ति जांच में कोरोना पाजिटिव पाया गया है। नियम है कि जो शिकायत लेकर आते हैं, उनकी कोरोना जांच होती है। जब वापस आए तो मालूम हुआ कि छह लोग पाजिटिव हो गए हैं। इसके अतिरिक्त भोजन की व्यवस्था को देखने वाला एक व्यक्ति भी पाजिटिव हो गया।

बिग ब्रेकिंग – डॉक्टरों के बाद नेता भी आए कोरोना की तीसरी लहर की चपेट में, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, पत्नी शांति देवी, बेटी पुष्पा मांझी, बहू दीपा मांझी और पीए गणेश पंडित सहित 18 लोग पाए गए कोरोना पॉजिटिव

Advertisement

सोमवार को बिहार में कोरोना के 344 केस आए सामने
एक्टिव केसों की संख्या 1385 के पार पहुंची
गया में 88, पटना में 160 पॉजिटिव मामले
बेगूसराय, भागलपुर, दरभंगा में 7- 7 मरीज
मुजफ्फरपुर में 11, रोहतास में 5 संक्रमित

Advertisement

Advertisement