आर.एल.महतो बी.एड. कॉलेज में “पुस्तकालय की उपयोगिता” विषय पर किया गया वर्कशॉप

Advertisement

दलसिंहसराय स्थित आर.एल.महतो इंस्टिट्यूट ऑफ एजुकेशन के सभागार में एक दिवसीय “पुस्तकालय की उपयोगिता” विषय पर वर्कशॉप का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती को माल्यार्पण, पुष्पांजलि एवं दीप प्रज्वलन के साथ किया गया।

Advertisement

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आर.बी.कॉलेज, दलसिंहसराय के प्राचार्य डॉ. महेशचंद्र चौरसिया को पाग एवं शॉल भेंट कर सम्मानित किया गया । डॉ.महेशचंद्र चौरसिया ने बताया कि अच्छी पुस्तकें मनुष्य को पशु से भी एक अच्छा नागरिक बनाती है, उसकी अच्छी विचारधारा को जागृत कर उसे पथभ्रष्ट होने से बचाती हैं । पुस्तकें विद्यार्थी के व्यक्तित्व में नवीन निखार उत्पन्न करती हैं । पुस्तकालय में विभिन्न प्रकार के पुस्तकें सुसज्जित रहती हैं, विद्यार्थियों को इससे लाभ लेना चाहिए । वहीं महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि पुस्तकालय विद्यालय का हृदय है । पुस्तकों का महत्व तथा मूल्य रत्नों से भी अधिक हैं, क्योंकि रत्न बाहरी चमक-दमक दिखाते हैं, जबकि पुस्तकें हृदय को उज्जवल करती है । श्रेष्ठ पुस्तकें मनुष्य समाज तथा राष्ट्र का मार्गदर्शन करती हैं।

पुस्तकालय अध्यक्षा श्रीमती रश्मि रोजी ने बताया कि पुस्तक के विद्यार्थी का सच्चा संगी- साथी हैं उन पर पूरा भरोसा किया जा सकता है । पुस्तकें ऐसी मार्गदर्शक हैं, हमसे कुछ बदले में नहीं लेती हैं अपितु अपना अमृत तत्व देकर संतुष्ट कर जाती हैं । इस वर्कशॉप में महाविद्यालय की प्रशिक्षु फरहत नसरीन ने पत्र-पत्रिका, सुमन भारती ने समाचार पत्र एवं नीतू कुमारी ने डिक्शनरी का रोल अदा कर सभागार में बैठे सभी लोगों ने सराहा । प्रशिक्षु शिवानी शिल्पी एवं हसनैन रजा ने हृदय स्पर्शी गीत गाया । वहीं सरिता कुमारी, गायत्री प्रतिभा, मीरा कुमारी, अर्चना रानी, गुड़िया कुमारी, धर्मेंद्र कुमार, अविनाश कुमार एवं मुन्ना कुमार ने भी पुस्तकालय की उपयोगिता विषय पर अपना उपयोगी विचार व्यक्त किया । इस वर्कशॉप में भाग ले रहे सभी प्रतिभागी प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया । इस कार्यक्रम का मंच संचालन निधि नंदा ने, स्वागत अस्मिता कुमारी ने एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ. विवेक दत्त ने किया । वर्कशॉप को सफल संचालन में डॉ. राम कुमार रमन, डॉ. सविता कुमारी, केशव कुमार चौधरी बकर जाफिर, उमाशंकर चंदन, सत्यम, चंदा कुमारी, पवन कुमार, रूपम कुमारी एवं पल्लव कुमार पारस इत्यादि लोगों ने भी अहम भूमिका निभाया।

Advertisement
Advertisement