विद्यापतिधाम मंदिर परिसर से भगवान राम की बारात निकाली, हर्षोल्लास के साथ राम जानकी विवाह महोत्सव मनाया गया

Advertisement

समस्तीपुर जिले के विद्यापतिनगर से जहां राम जानकी विवाह महोत्सव को लेकर मंगलवार को सुप्रसिद्ध विद्यापतिधाम मंदिर परिसर स्थित राम जानकी राधाकृष्ण मंदिर प्रांगण से भगवान राम की बारात की भव्य झांकी निकाली गयी। ऋषि, मुनी, साधु संत महात्मा सहित हाथी, घोड़ा ऊंट, के साथ रथ पर सवार भगवान राम के प्रतिरूप पूरी तरह से भव्यता का उत्कृष्ट नमूना पेश कर रहे थे। भगवान राम की बारात की झांकी विद्यापतिधाम होते हुए साहिट गांव से बाजिदपुर बांध होते हुए मऊ शेरपुर तक गई। इसके बाद बालकृष्णपुर मड़वा होते हुए कोल्ड स्टोरेज होते हुए राम जानकी राधाकृष्ण मंदिर परिसर पहुंची। जहां मंदिर के महंत ताराकांत गिरि के नेतृत्व में लोगों ने वैदिक धर्म के अनुसार मंत्रोंच्चार के बीच बारात की झांकी का स्वागत किया। इस दौरान पूरा वातावरण भक्तिमय बना रहा तथा लोग एक झलक पाने को लेकर बेताब दिखे।

इस दौरान पूरा वातावरण भक्तिमय बना रहा। लोग झांकी की एक झलक पाने के लिए बेताब थे। राम जानकी राधाकृष्ण मंदिर मेंं महंत ताराकांत गिरि के नेतृत्व में लोगों ने बारात का स्वागत किया। इससे पहले दो दिवसीय महोत्सव का विद्यापति मंदिर के व्यवस्थापक गणेश गिरि कवि ने ध्वज पताका लहरा कर शुभारंभ किया।

Advertisement

झांकी में भगवान श्रीराम के रूप में अभिषेक कुमार गिरि, लक्ष्मण के रूप में अनिकेत कुमार, भरत के रूप में विक्रम, शत्रुघ्न के रूप में अभिषेक, दशरथ के रूप में कृष्णकांत गिरि, विश्वामित्र के रूप में कुणाल कुमार, ब्रह्मा जी के रूप में रामप्रवेश पंडित एवं मौनी बाबा के रूप में राजा गिरि थे। महिलाओं ने की पुष्प वर्षा: जगह जगह महिलाओं की टोली ने बारात पर पुष्प वर्षा करने के साथ आरती उतारी। बारात देखने के लिए सड़क किनारे लोगो की भीड़ जुटी हुई थी। विद्यापति मंदिर के सदस्य पीताम्बर गिरि ने बताया कि बारात आगमन के पश्चात रविवार को राम जानकी विवाह मंडप में वैदिक रीति-रिवाजों और धार्मिक अनुष्ठान के बीच राम जानकी विवाह होगा। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई हैं। उगना महादेव मंदिर समेत पूरे परिसर को रंग-बिरंगे बल्बों से सजाया गया है। आयोजन को लेकर स्थानीय लोगों का उत्साह देखते बनता है।

मौके पर गणेश गिरि कवि, पीताम्बर गिरी, जदयू नेता धीरेंद्र कुमार सिंह, नवल गिरि, सतीश गिरि, शुभम गिरि, रंजू गिरि, मुखिया संजीत सहनी, मौजी प्रसाद यादव, राजन कुमार, रामानन्द गिरि, पंचानन्द गिरि आदि मौजूद थे।

Advertisement
Advertisement