समस्तीपुर पटेल मैदान में जीविका दीदियों को संबोधित करेंगे सीएम

Advertisement

समस्तीपुर। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की समाज सुधार यात्रा 22 दिसंबर से प्रारंभ हो रही है। समाज सुधार यात्रा के क्रम में मुख्यमंत्री 30 दिसंबर को समस्तीपुर पहुचेंगे। वे पटेल मैदान में जीविका दीदियों की सभा को संबोधित करेंगे। वहीं हरपुर बोचहा पहुंचकर योजनाओं का जायजा भी लेंगे। इसके बाद समाहरणालय सभाकक्ष में दरभंगा प्रमंडल के समस्तीपुर, दरभंगा एवं मधुबनी के अधिकारियों के साथ वे विभिन्न योजनाओं एवं विधि व्यवस्था की समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री के समाज सुधार यात्रा कार्यक्रम निर्धारित होते ही जिला स्तर पर इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। जिला प्रशासन के द्वारा इसको लेकर अभी से ही तैयारी की जाने लगी है। जिलाधिकारी समेत अन्य अधिकारी एक दिन पहले ही विद्यापतिनगर प्रखंड के हरपुर बोचहा पहुंचकर वहां योजनाओं का जायजा ले रहे हैं। वहीं जनता दरबार आयोजित कर वहां के लोगों की समस्याओं का समाधान विभागीय पदाधिकारियों के द्वारा किया जा रहा है।

सरकार से जारी पत्र के अनुसार जीविका दीदियों की सभा में मुख्यमंत्री राज्य में पूर्ण शराबबंदी अभियान, दहेज प्रथा उन्मूलन और बाल विवाह मुक्ति अभियान से संबंधित राज्य सरकार की प्रमुख नीतियों एवं निर्णयों पर विचार रखेंगे। इस दौरान लाभुकों के द्वारा भी अपने-अपने विचार रखे जाएंगे। इस जनसभा में मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग, अपर मुख्य सचिव निबंधन एवं उत्पाद विभाग के साथ-साथ पुलिस महानिदेशक भी रहेंगे। समीक्षा बैठक में आठ विन्दुओं पर मुख्यमंत्री करेंगे समीक्षा

Advertisement

समाज सुधार यात्रा के क्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी करेंगे। इस समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री, जिले के निवासी मंत्री, मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग के मंत्री के अलावा संबंधित विभागों के मंत्री वीडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से जुड़ेंगे। इसके अलावा सांसद, विधायक, विधान पार्षद स्वेच्छा से इसमें भाग ले सकते हैं। समीक्षा बैठक के दौरान आयुक्त, आईजी के अलावा तीनों जिलों के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक के अलावा संबंधित विभागों के पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे। इसके अलावा मुख्य सचिव, अपर सचिव गृह विभाग समेत अन्य संबंधित विभागों के वरीय अधिकारी भी इसमें मौजूद रहेंगे। समीक्षा के दौरान मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग, बाल विवाह उन्मूलन, गृह विभाग, सतत जीविकोपार्जन योजना, हर घर नल का जल, पक्की नाली गली योजना, लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान-2 से संबंधित शौचालय निर्माण एवं धान की अधिप्राप्ति से संबंधित योजनाओं की समीक्षा करेंगे। जिस योजना की समीक्षा की जाएगी, उस समय उससे संबंधित विभाग के प्रधान सचिव भी मौजूद रहेंगे।

Advertisement

Advertisement