भागवत कथा सुनने से मिट जाते जीवन के सारे पाप-साध्वी सियाजू

Advertisement

समस्तीपुर । सरायरंजन प्रखंड के बथुआ बुजुर्ग स्थित डीहवारनी स्थान में एक सप्ताह तक चलने वाले श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आरंभ हुआ। भागवत कथा के प्रथम दिन अयोध्या से पहुंचीं साध्वी सियाजू ने कहा कि जन्म-जन्मांतर एवं युग-युगांतर में जब पुण्य का उदय होता है, तब ऐसा अनुष्ठान होता है। श्रीमद्भागवत कथा एक अमर कथा है। इसे सुनने से पापी भी पाप मुक्त हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि वेदों का सार युगों-युगों से मानवजाति तक पहुंचाता रहा है। भागवतपुराण उसी सनातन ज्ञान की पयस्विनी है, जो वेदों से प्रवाहित होती चली आई है। इसलिए भागवत महापुराण को वेदों का सार कहा गया है। उन्होंने श्रीमद्भागवत महापुराण का बखान किया। कहा कि सबसे पहले सुखदेव मुनि ने राजा परीक्षित को भागवत कथा सुनाई थी, उन्हें सात दिनों के अंदर तक्षक के दंश से मृत्यु का श्राप मिला था। उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा अमृत पान करने से संपूर्ण पापों का नाश होता है।

मौके पर गायत्री शक्तिपीठ के व्यवस्थापक प्रमोद प्रसाद सिंह, प्रमुख कथा वाचक सुमन कुमार, रमाशंकर दास, अजय कुमार, अमित कुमार, भूषण प्रसाद सिंह, रामानुज सिंह, शैलेंद्र सिंह, संजय कुमार सिंह, अश्वमेध देवी, रेणु कुमारी आदि मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement