समस्तीपुर मंडल ने 3 दिन में प्राप्त किया 83 लाख राजस्व

Advertisement

समस्तीपुर रेल मंडल टिकट जांच कर राजस्व प्राप्त करने में लगातार बाजी मार रहा है। पिछले तीन दिन पूर्व मध्य रेल में चले टिकट जांच अभियान में राजस्व वसूली में समस्तीपुर मंडल पहले स्थान पर रहा। धनबाद, दानापुर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय एवं सोनपुर मंडल को पीछा छोड़ते हुए समस्तीपुर रेल मंडल ने तीन दिनों में लगभग 83 लाख रुपए का राजस्व केवल टिकट जांच के दौरान प्राप्त किया है। डीआरएम आलोक अग्रवाल के दिशा-निर्देशों के आलोक में सीनियर डीसीएम सरस्वती चन्द्र के मार्गदर्शन में मंडल के विभिन्न रेलखण्डों पर बिना टिकट यात्रा को रोकने के उद्देश्य सघन टिकट जांच अभियान चलाया जा रहा है।

टिकट जांच अभियान का नेतृत्व सीनियर डीसीएम (टिकट जांच) प्रसन्न कात्यायन कर रहे हैं। इन विशेष अभियानों में समस्तीपुर मंडल 14 से 16 नवंबर तक लगातार चेकिंग आय अर्जित करने के मामले में पूर्व मध्य रेल के पांचों मंडलों में सर्वोत्म रहा है। समस्तीपुर मंडल द्वारा पिछले तीन दिनों में 12536 यात्रियों को बिना टिकट यात्रा करते हुए पाया गया, जिनसे लगभग 82.65 लाख रूपये रेल राजस्व के रूप में प्राप्त हुए। मंडल द्वारा अर्जित यह आय अबतक का सबसे अधिक है। पहली बार मंडल ने तीन दिनों में लगभग 83 लाख रुपए अर्जित कर लिया। जिसके कारण पूर्व मध्य रेल के पांचों मंडल से अव्वल रहा है। इसके लिए ईसीआर के जीएम अनुपम शर्मा ने समस्तीपुर डीआरएम व वाणिज्य विभाग की पूरी टीम को बधाई दी है।

Advertisement

सभी रेलखंड पर चल रही है जांच:

सीनियर डीसीएम (टीसी)प्रसन्न कात्यायन के नेतृत्व में विभिन्न रेलखंडों के लिए अलग-अलग टीमों को लगाया गया है। इन टीमों का नेतृत्व एसीएम फैजान अनवर तथा मंडल के अन्य वाणिज्य निरीक्षक एवं मुख्य चलटिकट निरीक्षक कर रहे हैं। इन टीमों में काफी संख्या में टिकट जांच कर्मचारियों एवं आरपीएफ के जवानों को लगाया गया है जिनका मुख्य उददेशय स्टेशन परिसर एवं गाड़ियों में बिना उचित यात्रा प्राधिकार के यात्रा पर रोक लगाना है। मंडल में आगे भी इस प्रकार के विशेष जांच अभियान चलाये जाते रहेगें।

Advertisement
Advertisement