कुलपति हटाओ – कुलाधिपति हटाओ, विश्वविद्यालय बचाओ – शिक्षा बचाओ अभियान के साथ होगा आंदोलन तेज –

Advertisement

वि. वि. के शाख को बदनाम करने वाला कुलपति कुलसचिव के बर्खास्तगी को ले आइसा – एसएफआई – ऐआई एसएफ – एनएसयूआई ने की संयुक्त बैठक

ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय को शर्मसार करने वाला भ्रष्टाचार के आरोपी कुलपति प्रो. एस पी सिंह एवं कुलसचिव मुस्ताक अहमद को बर्खास्तग करने एवं संपत्ति का जांच कराने तथा पूसा केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति के कार्यकाल एवं नियुक्ति की सीबीआई से जांच कराने की मांग को ले आज लेफ्ट डेमोक्रेटिक छात्र संगठन का बैठक बी. आर. बी. कॉलेज कैंपस में एसएफआई के जिला सचिव आनंद कुमार की अध्यक्षता तथा जिला अध्यक्ष लोकेश कुमार के संचालन में आयोजित की हुआ।

Advertisement

बैठक को संबोधित करते हुए आइसा के जिला सचिव सह संयुक्त छात्र संघर्ष मोर्चा के संयोजक सुनील कुमार ने कहा कि मिथिला विश्वविद्यालय के इतिहास को कलंकित करने वाला एलएनएमयू के कुलपति उत्तर पुस्तिका एवं पुस्तक घोटाला के बाद कॉलेज एप्लीकेशन घोटाला में लगातार भ्रष्टाचार के आरोप से घिर रहे हैं लेकिन भाजपा जदयू कि सरकार खामोश है राजभवन मौन हैं जिसके खिलाफ आज लिफ्ट डेमोक्रेटिक संयुक्त छात्र मोर्चा के बैनर तले बाईसा एसएफआई एआईएसएफ एनएसयूआई के नेताओं ने मजबूती से कुलपति हटाओ कुलाधिपति हटाओ विश्वविद्यालय बचाओ शिक्षा बचाओ का नारा देते हुए जिला स्तर पर एवं 1 दिसंबर को दरभंगा में कुलपति कुलसचिव के बर्खास्तगी को ले सभा में भाग लेने के लिए छात्रों – बुद्धिजीवियों से अपील की है.

वहीं एआईएसएफ के जिलाध्यक्ष सुधीर कुमार ने कहा कि ल. ना. मि. वि. वि. के अंदर जो आज उथल-पुथल है उसके केंद्र में मिथिला विश्वविद्यालय के कुलसचिव हैं जो भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप में प्रधानाचार्य रहते हुए सस्पेंड होने के बावजूद राजभवन इन्हें ल. ना. मि. वि. वि. के कुलसचिव नियुक्त किया है तब से यह बदले की भावना से प्राचार्य, प्रोफ़ेसर, शिक्षक एवं कर्मचारी पर पर कार्यवाई कर रहे हैं। हम मांग करते हैं कि कुलसचिव के बर्खास्त करते हुए इनकी संपत्ति की जांच कर अविलंब गिरफ्तार किया जाए.

Advertisement

आगे एसएफआई के जिला सचिव आनंद कुमार ने कहा कि मिथिला विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों के करतूत के कारण आज कंप्यूटर सेक्सन में ताला जड़ा है और इसका मामला हाईकोर्ट में चला गया है जिससे वि. वि. के हजारों छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है समय पर परिणाम नहीं घोषित होने के कारण दूसरे विश्वविद्यालय में छात्र नामांकन लेने से वंचित हो रहे हैं।

एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष अभिनव अंशु ने कहा कि बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में भारी अनियमितता है पूसा केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय में नियुक्ति एवं कुलपति की संपत्ति की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है.
आइसा के जिला अध्यक्ष लोकेश राज एवं पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मनीष राय ने कहा कि एलएनएमयू के कुलपति एवं कुलसचिव की बर्खास्तगी एवं संपत्ति की जांच तथा गिरफ्तारी नहीं होती है तो 30 नवंबर को जिला स्तरीय प्रतिरोध दिवस मनाया जाएगा एवं 1 दिसंबर को सैकड़ों छात्र दरभंगा के सभा में शामिल होंगे।

Advertisement

बैठक में उपस्थित आइसा जिला सचिव सुनील कुमार, जिला अध्यक्ष लोकेश राज, एसएफआई जिला सचिव आनंद कुमार, एआईएसएफ के जिला अध्यक्ष सुधीर कुमार, एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष अभिनव अंशु, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष मनीष राय, दीपक यदुवंश, रवि रंजन कुमार इत्यादि थेl

Advertisement

Advertisement