नैतिक रूप से कमजोर व्यक्ति ही मीडिया से डरता है : डीपीआरओ

Advertisement

समस्तीपुर। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर मंगलवार प्रेस क्लब में एक परिचर्चा आयोजित हुई। परिचर्चा का विषय था- मीडिया से कौन नहीं डरता। जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ऋषभ राज की अध्यक्षता में आयोजित इस परिचर्चा में जिले के वरिष्ठ पत्रकारों ने मीडिया की महत्ता एवं इससे जनसामान्य को होने वाले लाभ पर चर्चा की। वहीं प्रेस की आजादी एवं लोकतंत्र में इसके महत्व को भी रेखांकित किया। समाज की हर छोटी-बड़ी समस्याओं को प्रमुखता से शासन एवं प्रशासन के समक्ष लाने के साथ ही समाज में व्याप्त कुरीतियों को समाप्त करने में मीडिया के योगदान पर भी बात की गई। पत्रकारों ने कहा कि आज मीडिया की वजह से ही लोकतंत्र मजबूत है। गलत करने वालों को यदि किसी से डर है तो वह है, मीडिया। देश की मीडिया ने समय-समय पर सरकार और उसके मुलाजिम को अपनी ताकत का अहसास भी कराया है। कई बार तो सर्वोच्च न्यायालय ने मीडिया के आधार पर संज्ञान लेकर बड़े एवं कठोर फैसले भी दिए हैं।

जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ने कहा कि नैतिक रूप से जो कमजोर है, वह निश्चित रूप से मीडिया से डरता है। लेकिन जो ईमानदार है और अपने काम पूरी निष्ठा और ईमानदारी से करता है, वह मीडिया की प्रशंसा का पात्र भी बनता है। इसमें कोई दो राय नहीं कि मीडिया की बदौलत देश-प्रदेश में कई बड़े बदलाव देखने को मिले हैं। रोसड़ा के सफाई कर्मी मामले में कुछ पत्रकारों पर प्राथमिकी दर्ज किए जाने पर पत्रकारों ने पुलिस एवं प्रशासन की कड़ी आलोचना भी की। साथ ही कहा कि जिलाधिकारी को चाहिए कि वे इसकी निष्पक्ष जांच कराएं। मौके पर वरिष्ठ पत्रकार शिवचंद्र झा, राजकुमार राय, गिरिजानंदन शर्मा, अमृता कुमारी, उमेश मिश्र, कमलेश झा, संजय राजा, संजीव नयपुरी, हरेश्वर कुमार दादा, मुकेश कुमार, मृत्युंजय कुमार ठाकुर, अंकुर कुमार, सुनील कुमार, मंटून राय, संजय कुमार सिंह, सुजीत कुमार, अनिल कुमार, सुरेश कुमार, रविशंकर चौधरी, अंशु कुमार समेत अन्य मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement