बसों का सफर महंगा : बिहार में महंगे बस किराये पर लगी मुहर, डीलक्स, एसी, वाल्वो व सिटी की गाड़ियों के लिए नई दरें निर्धारित

Advertisement

बस के महंगे किराये पर परिवहन विभाग ने अपनी मुहर लगा दी है। डीलक्स, एसी, वाल्वो व नगर बस सेवा में यात्री किराये की नई दरें निर्धारित कर विभाग ने सोमवार को अधिसूचना जारी कर दी है। विभाग ने सभी क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकार को 15 दिनों के अंदर प्वाइंट टू प्वाइंट किराये का निर्धारण कर इसे कठोरता से लागू करने का निर्देश दिया है। हालांकि, निजी बस संचालक पहले से ही अधिक किराया वसूल रहे हैं, ऐसे में फिर से नई वृद्धि की संभावना कम है। सरकारी बसों व नगर बस सेवा का किराया जरूर बढ़ सकता है।

डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को देखते हुए विभाग ने सितंबर में ही नई दरें निर्धारित कर बस किराया बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था। इसकी सूचना जारी कर दावा-आपत्ति भी मांगी गई थी। विभाग के अनुसार, निर्धारित अवधि तक कोई भी आपत्ति या सुझाव नहीं मिलने पर प्रस्तावित दरों को ही निर्धारित कर दिया गया है। विभाग ने स्पष्ट किया है कि निर्धारित दर से अधिक किराया किसी भी स्थिति से वसूल नहीं किया जाएगा।

Advertisement

यात्री किराये की नई दरें

1.50 रुपये प्रति किमी साधारण बसों में
1.70 रुपये प्रति किमी डीलक्स बसों में
2.00 रुपये प्रति किमी डीलक्स एसी बसों में
2.50 रुपये प्रति किमी वाल्वो, मर्सिडीज बसों में
जल्द बैठक कर तय होगा बढ़ा किराया

Advertisement

नए आदेश के तहत साधारण बस सेवा के लिए डेढ़ रुपये प्रति किलोमीटर, डीलक्स बस सेवा के लिए 1.70 रुपये प्रति किलोमीटर, डीलक्स एसी बस के लिए दो रुपये प्रति किलोमीटर और वाल्वो व मर्सिडीज बसों के लिए 2.50 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से नया किराया निर्धारित किया गया है। इसके अलावा सिटी बस सेवा के लिए पहले चार किलोमीटर के लिए 1.60 रुपये प्रति किलोमीटर और इसके बाद प्रत्येक दो किमी पर 1.50 रुपये की दर से किराया लेने का प्रस्ताव है। परिवहन निगम के अधिकारियों के अनुसार, मुख्यालय से आदेश आने के बाद जल्द ही बैठक कर प्वाइंट टू प्वाइंट किराये की सूची जारी की जाएगी।

लंबी बसों के किराये में थोड़ी राहत

Advertisement

परिवहन विभाग ने लंबी दूरी की बसों के किराये में थोड़ी राहत भी दी है। बसों में 101 से 250 किमी की दूरी तक बेसिक किराया दर के आधार पर निर्धारित किराये में 20 फीसद और 251 किमी से ज्यादा दूरी के लिए निर्धारित किराये में 30 फीसद की कमी लाते हुए किराया निर्धारित करने को कहा गया है। इसका आकलन कर किराया तय किया जाएगा। विभाग ने हर बस पड़ाव पर यात्री किराये की तालिका प्रदर्शित करने को भी कहा है। इसके अलावा प्रत्येक बस में शिकायत पंजी रखने को भी कहा गया है।

सरकार ने बसों का नया किराया तय किया

Advertisement

बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष उदय शंकर सिंह ने कहा कि सरकार ने बसों का नया किराया तय किया है, जो स्वागतयोग्य है, लेकिन कोरोना के कारण प्रभावित हुए व्यवसाय और प्रतिस्पर्धा के कारण हम बस संचालक किराये में फिलहाल कोई वृद्धि नहीं करेंगे।

Source- Dainik Jagran

Advertisement
Advertisement