3 बच्चों की मां ने शरीर पर बनवाए हैं 17 लाख रुपये के टैटू, अब एक अंग पर गुदवाने से लग रहा डर!

टैटू का शौक लंबे वक्त से लोगों को होता है. गुजरे जमाने में तो लोग अपने पसंदीदा हीरो-हीरोइन के नाम ही शरीर पर टैटू की तरह गुदवा लेते थे. बीते कुछ साल से टैटू का चलन और भी ज्यादा बढ़ गया है. टैटू अब शरीर पर एक डिजाइन ही नहीं, मन की बात कहने का भी जरिया बन गया है. लोग उन चीजों का टैटू बनवाने लगे हैं जिससे वो खुद को कनेक्ट कर पाते हैं. फिनलैंड की एक महिला एक कदम आगे जाते हुए अपने पूरे शरीर को काली इंक से ढक लेना चाहती है मगर उसे शरीर के एक अंग पर टैटू बनवाने से डर लग रहा है.

फिनलैंड की रहने वाली 31 साल की एलेक्सैंड्रा जैसमीन 3 बच्चों की मां हैं और एक टैटू आर्टिस्ट हैं. एलेक्सैंड्रा जब 18 साल की थीं तब उन्होंने अपने शरीर पर पहला टैटू बनवाया था. तब से लेकर आज तक उन्होंने शरीर पर 17 लाख रुपये से ज्यादा के टैटू बनवा लिए हैं. एलेक्सैंड्रा ने अपने शरीर पर अजीबोगरीब टैटू बनवाए हैं. उनके शरीर पर इंसानी खोपड़ी के टैटू, बिल्लियों के टैटू और अंग्रेजी शब्द बने हुए हैं. उन्होंने अपने माथे, गाल, बांह, पेट, पैर आदि के साथ-साथ सीने पर भी टैटू बनवाया है. अब वो चाहती हैं कि वो अपने शरीर के बचे हुए हिस्सों में भी टैटू बनवाएं मगर उन्हें शरीर के एक अंग पर टैटू बनवाने से डर लग रहा है. डेली स्टार से बात करते हुए एलेक्सैंड्रा ने बताया कि उन्हें अपने हिप्स के बीच में टैटू बनवाने से डर लग रहा है.

महिला ने कहा कि वो अपने बट क्रैक में टैटू बनवाने से डर रही हैं. इसलिए वो वहां टैटू नहीं बनवाएंगी. उन्होंने कहा कि उन्हें काली इंक से प्यार है इसलिए वो अपने शरीर को टैटू से पूरा काला कर लेंगी और उसके बाद जब उनके शरीरी का एक-एक हिस्सा टैटू से भर जाएगा तब वो काले टैटू पर सफेद इंक से टैटू बनवाएंगी. उन्होंने कहा कि कई लोग उन्हें जज करते हैं और उनकी आलोचना करते हैं मगर उन्हें लोगों की आलोचना से कोई फर्क नहीं पड़ता. उन्होंने कहा कि इंसान का स्वभाव मायने रखता है ना कि उसका अपियरेंस. इसलिए वो लोगों की बातों पर ध्यान नहीं देती हैं.