दोस्त ने ही दोस्त को दिया धोखा, घर में रहकर मालिक की पत्नी पर डाले डोरे, तीन बच्चों की मां को लेकर भागा खलासी

Advertisement

एक दशक से भी अधिक से ट्रक मालिक के यहां काम करके उनका दोस्त बनकर गुजारा कर रहा खलासी उनकी ही पत्नी और तीन बच्चों की मां को प्यार में रजामंद कर ले भागा। घर में दोस्त की तरह खलासी को रखने वाला ट्रक मालिक न केवल अपनी पत्नी की बरामदगी के लिए दर-दर की ठोकर खा रहा है बल्कि पुलिस के भी चक्कर काट रहा है। यह घटना महुआ थाना के सिहपुर कल्याणपुर की है।

वैशाली जिले के महुआ थाने के सिहपुर कल्याणपुर निवासी भुक्तभोगी ने पुलिस को दिए आवेदन में बताया कि उसने दूर के एक युवक को अपने यहां ट्रक के खलासी का काम देकर, उसे दोस्त बना कर घर में शरण दे रखी थी। करीब एक दशक से युवक उनके घर में रहकर ट्रक पर खलासी का काम कर रहा था। पांच दिन पूर्व वह उनकी 30 वर्षीया पत्नी खुशबू को प्यार में रजामंद कर ले भागा।

Advertisement

उन्होंने बताया कि पहले तो कई दिनों तक पत्नी की खोज में इधर-उधर भटकता रहा। लेकिन खोजने के बाद भी वह नहीं मिली तो थाने में रपट लिखवाने पहुंचे हैं। भुक्तभोगी के अनुसार उन्होंने खुशबू के साथ शादी की और उनके 3 बच्चे हैं। इस बीच एक दशक पूर्व सहरसा नौहटा थाना के एक युवक मिला। वह उसे घर लाए। वह दोस्त की तरह रहकर ट्रक में खलासीगिरी कर रहा था। उन्हें क्या पता था कि वह उनके घर में ही रह कर उनकी पत्नी खुशबू पर डोरे डाल रहा है।

उनके न रहने पर खलासी उनकी पत्नी खुशबू को बहला-फुसलाकर घर से भगाकर दिल्ली ले गया है। भुक्तभोगी के अनुसार खुशबू 3 बच्चों को घर पर ही छोड़ गई है। भुक्तभोगी पति के द्वारा दिए गए आवेदन पर पुलिस घटना की तहकीकात में जुट गई है। उधर इस घटना को लेकर गांव और आसपास में चर्चा का बाजार गर्म है। हर ओर लोगों में एक ही चर्चा हो रही है कि दोस्त-दोस्त न रहा। घर में दोस्त बनकर जीवन गुजार रहा खलासी मालिक की बीवी को ही ले भागा।

Advertisement
Advertisement