बिहारी राष्‍ट्रपति कहे जाने पर गदगद हो जाता है मन : राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद

Advertisement

बिहार विधानसभा भवन के शताब्‍दी समारोह के अवसर पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि बिहार हमेशा इतिहास रचता है। आज फिर एक इतिहास रचा गया है। 100 वर्ष के विधानसभा का आज हम उत्‍सव मना रहे हैं। साथ ही आज देश ने भी एक इतिहास रचा, एक सौ करोड़ वैक्‍सि‍नेशन का। यह अहम दिन है। रत्‍नगर्भा धरती और यहां के स्‍नेही लोगों के चलते बिहार आने पर सुखद अनुभूति होती है। राज्‍यपाल रहने के दौरान काफी स्‍नेह और सम्‍मान मिला। राष्‍ट्रपति के रूप में भी बिहार आने पर उसी तरह के प्रेम और सम्‍मान का अहसास होता है। इसके लिए सीएम नीतीश जी के प्रति आभार प्रकट करता हूं। शताब्‍दी वर्ष का यह समारोह लोकतंत्र का उत्‍सव है। शताब्‍दी स्‍तंभ का शिलान्‍यास कर प्रसन्‍नता हुई। उन्‍होंने कहा कि महापर्व छठ आज ग्‍लोबल फेस्टिवल बन चुका है।

बिहारी राष्‍ट्रपति कहे जाने पर सुखद अनुभूति

Advertisement

राष्‍ट्रपति ने कहा कि जब मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बिहारी राष्‍ट्रपति के रूप में संबोधित कर रहे थे तो हृदय से गदगद महसूस कर रहा था। वह इसलिए कि देश के प्रथम राष्‍ट्रपति डा राजेंद्र प्रसाद, डा. जाकिर हुसैन की विरासत को आगे बढ़ाने का दायित्‍व मिला। बिहार आने पर लगता है कि अपने घर में आ गया हूं। बिहार सरकार का निमंत्रण हो या अन्‍य निमंत्रण तो आप टालमटोल नहीं करते, सचिवालय में यह सवाल उठता है तो कहता हूं कि बिहार से मेरा गहरा नाता है। मुख्‍यमंत्री इसका उल्‍लेख भी करते हैं। भगवान बुद्ध की विपस्‍सना पद्धति में थोड़ा बहुत योगदान मेरा भी रहा। सीएम ने उसे आगे बढ़ाया।

विश्‍व के प्रथम लोकतंत्र की जननी है बिहार

Advertisement

बिहार की धरती विश्‍व के प्रथम लोकतंत्र की जननी रही है। भगवान बुद्ध ने आरंभकि गणराज्‍यों को प्रज्ञा और करुणा की शिक्षा दी थी। भगवान बुद्ध, महावीर और गोविंद सिंह की धरती की मुझ पर विशेष कृपा है। यह प्रतिभावान लोगों की धरती है। यह नालंदा, आर्यभट्ट, कौटिल्‍य की धरती है। आप सब उस समृद्ध विरासत के उत्‍तराधकिारी हैं। उसे आगे बढ़ाने की जिम्‍मेदारी आप पर है।

बिहार ने स्‍थापित की समतामूलक परंपरा

Advertisement

राष्‍ट्रपति ने कहा कि चंद्रगुप्‍त मौर्य को शासक बनाने से लेकर 70 में जननायक कर्पूरी ठाकुर को सीएम बनाने तक इस धरती ने समतामूलक परंपरा स्‍थापित की है। लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने लोकतंत्र की रक्षा के लिए कदम उठाए। सुशासन तथा न्‍याय के साथ विकास को आगे बढ़ाया गया। स्‍वाधीनता के बाद लंबे समय तक नीतीश कुमार जी ने मुख्‍यमंत्री के रूप में अहम भूमिका निभाई।

शराबबंदी पर कानून बना गांधी जी के सपने को किया पूरा

Advertisement

श्री कोविंद ने कहा कि शराबबंदी पर बिहार विधानसभा ने कानून का दर्जा देकर अभूतपूर्व काम किया। गांधी जी के सपने को पूरा करने के लिए अहम भूमिका निभाई।

विधायकों को दी आचरण और नैतिकता की सीख

Advertisement

विधायकों से कहा-आपकी आशाएं और आकांक्षाएं आप पर टिकी हैं। आप सभी अपने आचरण और कार्यशैली से जनता की उम्‍मीदों पर खरा उतरें। सुशिक्षित, संस्‍कारी और सुविकसित राज्‍य के लिए आप प्रयास करें।

Source : Dainik Jagran

Advertisement
Advertisement