दलालों को कहो बाय बाय, बिहार सरकार की वेबसाइट पर ऑनलाइन खरीद और बेच सकेंगे प्लॉट-फ्लैट

बिहार की राजधानी पटना में रियल एस्टेट कारोबार नियंत्रित नहीं होने के चलते यहां प्लॉट और फ्लैट के रेट में बेतहाशा महंगे हैं। रियल एस्टेट कारोबार से जुड़े लोग बताते हैं कि खासकर पटना पटना पिछले 5-7 साल में प्रॉपर्टी के रेट अचानक से तेज हुए हैं। इसकी बड़ी वजह एजेंट और दलालों को माना जा रहा है। इतना ही नहीं, प्रॉपर्टी खरीद-बिक्री में एजेंट और दलालों के बोलबाला के चलते फ्रॉड के भी आए दिन सामने आते रहते हैं। दलालों और एजेंटों की प्रभाव को कम करने के लिए बिहार सरकार ने ऑनलाइन प्रॉपर्टी की खरीद-बिक्री करने का फैसला लिया है।

प्लॉट खरीद बिक्री के लिए यूज करें बिहार सरकार की वेबसाइट

बिहार सरकार जल्द ही एक ऐसी वेबसाइट लॉन्च करने जा रही है जिसपर खरीद-बिक्री वाले प्लॉट की जानकारी तस्वीर समेत तमाम डिटेल के साथ दिए जाएंगे। इस वेबसाइट पर रेसिडेंसियल प्लॉट, फ्लैट और औद्योगिक प्लॉट की डिटेल जानकारी मिलेंगे। जमीन के मालिक सरकारी वेबसाइट पर जमीन की जानकारी डालेंगे और खरीददार वहीं से अपने पसंद को देखते हुए जमीन मालिक से संपर्क कर सकेंगे। इससे दलालों और एजेंटों पर लगाम लगेगी।

ऑनलाइन जमीन खरीद बिक्री की योजना बिहार सरकार के राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग लेकर आएगी। इसके लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। बिहार सरकार की इस वेबसाइट पर लोग अपनी सुविधा के हिसाब से बिक्री के प्रॉपर्टी की डिटेल अपलोड करेंगे। साथ ही यहीं पर जमीन के मालिक का संपर्क नंबर भी दर्ज होगा। इससे जो भी खरीदार होंगे वे यहां से डिटेल लेकर अपने हिसाब से प्रॉपर्टी का सौदा कर पाएंगे।

खास बात यह है कि प्रॉपर्टी की खरीद-बिक्री के रेट तय करने में विभाग की कोई संलिप्ता नहीं होगी। प्रॉपर्टी मालिक और खरीदार आपस में बात करके रेट तय करेंगे।बिना पुख्ता कागजात के इस वेबसाइट पर नहीं बेच सकेंगे प्रॉपर्टी

खास बात यह है कि इस वेबसाइट पर उन्हीं प्रॉपर्टी की डिटेल अपलोड की जा सकेगी जिनके कागजात पुख्ता होंगे। यानी फ्रॉड को रोकने के लिए भी यह वेबसाइट कारगर साबित हो सकती है। विभाग के अफसरों ने बातचीत में बताया कि फाइनल प्रस्ताव तैयार होने के बाद ही वे इस वेबसाइट के बारे में डिटेल जानकारी दे पाएंगे। हालांकि उन्होंने यह उम्मीद जरूर जताई की एकाध साल में यह वेबसाइट लॉन्च हो सकती है।

Source: NBT