समस्तीपुर-महागठबंधन के कार्यकर्ताओं ने जन आक्रोश मार्च निकाल किया स्थानीय प्रशासन का पुतला दहन किया

राष्ट्रीय उच्च पथ 28 स्थित सुधा मिल्क पार्लर के संचालक सुनील राय व उनके ड्राइवर मो० पप्पू की हत्याकांड कांड के 11 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस प्रशासन हत्याकांड के उद्भेदन एवं हत्यारों को गिरफ्तार करने में पूरी तरह से असफल है। पुलिस की इस निष्क्रियता के विरुद्ध आज महागठबंधन कार्यकर्ताओं ने स्थानीय प्रशासन का पुतला दहन किया।

महागठबंधन के नेताओं ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि उक्त हत्याकांड को 11 दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक न तो इस मामले का उद्भेदन हुआ है और न अपराधियों की गिरफ्तारी हुई है और न ही प्रशासन ने पीड़ित परिवार को मुआवजे और सरकारी नौकरी देने की लिखित मांगों से संबंधित कोई अग्रेतर कार्रवाई ही की है। विदित हो कि उक्त हत्याकांड के दो दिन बाद ही रमना बाजार के जुता-चप्पल व्यवसायी रंजीत राम की निर्मम हत्या अपराधियों ने कर दी। प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए महागठबंधन कार्यकर्ताओं का जुलूस शहर के महावीर चौक, गुदरी बाजार होते हुए एन. एच. 28 चौराहा पर आकर पुतला दहन किया।

पुतला दहन कार्यक्रम में मुख्य रूप से कांग्रेस के सत्यनारायण सिंह, उदयकेतु चौधरी, फैज अहमद फैज, शंकर साह, मो० असलम, सीपीएम के विधानचंद्र, नीलम देवी, महेंद्र सिंह, रामसेवक राय, रूबी देवी, रामनारायण सिंह, सीपीआईएम के कॉमरेड विनोद कुमार समीर, शंभू कुमार चौधरी, राम विलास शर्मा, शंकर राम, मो० उस्मान, अशोक रजक, श्याम पंडित, राजद के नंदकिशोर महतो, चंदन प्रसाद, महेंद्र कुमार, राज दीपक, सुरेंद्र राय, प्रमोद राय, उमेश राम प्रकाश, राम उदय राय, संजय महतो, हेमलता कुमारी, कामिनी देवी, गीतांजलि, हरिशंकर राय, विष्णु कुमार, सन्नी सम्राट, बैजनाथ सिंह, सूरज गुप्ता, मो० दाऊद सहित दर्जनों महागठबंधन कार्यकर्ता उपस्थित थे।