समस्‍तीपुर में अब तक चालू नहीं हुआ आरटी-पीसीआर लैब, मुख्‍यमंत्री ने क‍िया था उद्घाटन

सदर अस्पताल परिसर स्थित आरटी-पीसीआर लैब का उद्धाटन होने के बाद भी अभी तक चालू नहीं हो पाया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नौ अगस्त को पटना से वीडियो कांफ्रेंसिंग से सदर अस्पताल में आरटी-पीसीआर लैब का उद्धाटन किया था। मुख्यमंत्री के उद्धाटन के एक महीने बीत जाने के बाद भी अब तक लैब चालू नहीं हुई है। अभी भी आरटी-पीसीआर जांच के लिए सैंपल लेकर पटना भेजा जा रहा है। जानकारी के अनुसार आरटी-पीसीआर लैब संचालन के लिए माइक्रो बायोलाजिस्ट का होना अनिवार्य है। इसका चयन अब तक स्वास्थ्य विभाग ने नहीं किया है।

विभाग के पास माइक्रो बायोलाजिस्ट उपलब्ध हो गया है। लेकिन परिसर में अभी लैब कक्ष में आधारभूत संरचना तैयार किया जा रहा है। आरटी-पीसीआर मशीन जिस कार्टन में बंद करके आई उसी में अभी तक पैक है। समस्तीपुर के सिविल सर्जन डॉ. सत्येंद्र कुमार गुप्ता का कहना है क‍ि आरटी-पीसीआर लैब का सभी सामान उपलब्ध है। मशीन को इंस्टाल करने को लेकर प्रक्रिया चल रही है। लैब के संचालन के लिए माइक्रो बाॅयोलाजिस्ट का चयन किया गया था।

मशीन की नहीं हो सकी इंस्टालेशनबिहार मेडिकल कॉरपोरेशन ने आरटी-पीसीबार लैब की मशीन सहित अन्य उपकरण उपलब्ध करा दिया है। अब तक मशीन डब्बे में बंद है। मशीन को इंस्टाल भी नहीं किया जा सका है।माइक्रोबायोलॉजिस्ट का किया गया था चयनविभाग निर्देश के अनुसार आरटीपीसीआर लैब के संचालन के लिए माइक्रो बायोलाजिस्ट का पैनल तैयार की गई थी। इसमें अभ्यर्थी सम्मिलित हुए थे। जिसके बाद इंटरव्यू के आधार पर उनका चयन किया गया था।