बिहार में मगरमच्‍छ को पकड़कर गांव में लेते गए लोग, वन विभाग की टीम पहुंची तो कहा- नहीं देंगे

वैशाली जिले के राघोपुर प्रखंड क्षेत्र के पहाड़पुर पश्चिमी पंचायत स्थित नगरगामा गांव में ग्रामीणों ने गड्ढे से एक मगरमच्छ को पकड़ा है। मालूम हो कि दो दिनों से पहाड़पुर पश्चिमी पंचायत में मगरमच्छ को पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम के स्तर पर कार्रवाई की जा रही थी। हालांकि, टीम को मगरमच्छ को पकड़ने में सफलता हाथ नहीं लगी। पहाड़पुर पश्चिमी के मंटू कुमार ठाकुर ने बताया कि बुधवार की सुबह से लेकर रात तक रेस्क्यू किया गया। कई बार मगरमच्छ जाल में फंस कर फिर बाहर निकल गया। दिन-रात रेस्क्यू के बावजूद मगरमच्छ को पकड़ने में वन विभाग की टीम को सफलता नहीं मिली।

मगरमच्‍छ को पकड़कर घर लेते गए ग्रामीण

गुरुवार की सुबह पहाड़पुर नगरगामा विष्णु मंदिर के निकट एक गड्ढे में लगभग डेढ़ फीट पानी जमा था। लोगों ने गड्ढे में मगरमच्छ को देखा और शोर मचाया। शोर सुनकर आसपास के हजारों लोग जमा हो गए। स्थानीय स्व. शिवजी राय की पत्नी सतिया देवी, मिथुन कुमार, मुन्ना कुमार, जिलाजीत सिंह, रंजीत राय, प्रमोद राय, विपिन कुमार, गुड्डू कुमार ने कड़ी मशक्कत के बाद गड्ढे से मगरमच्छ को पकड़ कर बाहर निकला। पकड़े गए मगरमच्छ को पकड़कर ग्रामीण अपने घर ले गए।

गंगा या गंडक में छोड़ देगा वन विभाग

ग्रामीण वन विभाग को मगरमच्छ सौंपने से इंकार कर रहे थे। सूचना मिलने ही जुड़ावनपुर एवं राघोपुर थाना की पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई। सब इंस्पेक्टर महेश्वरी साह ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मगरमच्छ को राघोपुर थाना पर लाकर वन विभाग की टीम को सौंप दिया। वन विभाग के सब इंस्पेक्टर नागेंद्र पांडे ने बताया कि मगरमच्छ मादा है। यह प्रजाति गंगा या गंडक में पाया जाता है। गंगा या गंडक में छोड़ दिया जाएगा। इस मौके पर वनरक्षी कुमार गौरव, अविनाश कुमार भी मौजूद थे।

Source: Dainik Jagran