30 लाख सालाना यात्रियों की क्षमता वाला बनेगा दरभंगा एयरपोर्ट का टर्मिनल, होगी ये सुविधाएं

राज्य सरकार अगर जमीन मुहैया करा देती है, तो दरभंगा एयरपोर्ट का आकार बढ़ कर वर्तमान से चौगुना हो जायेगा. फिलहाल नागरिक उड्डयन विभाग की ओर से दरभंगा एयरपोर्ट के लिए 78 एकड़ जमीन की मांग गयी है, जबकि वर्तमान में दरभंगा एयरपोर्ट 22 एकड़ में बना है.दरअसल, 25 अगस्त को नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पत्र भेज कर दरभंगा समेत बिहार की पांच जगहों पर एयरपोर्ट के निर्माण या विकास के लिए जमीन की मांग की और इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपने स्तर पर प्रयास करने का आग्रह किया. दरभंगा के लिए पत्र में 78 एकड़ जमीन की मांग की गयी है.

दरभंगा एयरपोर्ट पर सिविल एनक्लेव के निर्माण से जुड़े एयरपोर्ट ऑथोरिटी के एक वरीय अधिकारी की मानें, तो यदि राज्य सरकार की ओर से जमीन मुहैया करा दी जाती है ,तो वर्तमान से कम- से- कम चौगुने आकार का सिविल एनक्लेव दरभंगा एयरपोर्ट पर बनेगा. विदित हो कि दरभंगा एयरपोर्ट का वर्तमान सिविल एनक्लेव 22 एकड़ में ही बना है.

दरभंगा एयरपोर्ट का वर्तमान टर्मिनल भवन अस्थायी पोर्टा केबिन से बना है. इसके एराइवल और डिपार्चर एरिया की क्षमता केवल 200 है. क्रू मेंबर्स समेत केवल एक विमान के यात्री एक समय में इनका इस्तेमाल कर सकते हैं, जबकि वर्तमान में यहां से मुंबई, दिल्ली , कोलकाता व बेंगलुरु जैसे बड़े महानगरों को 12 फ्लाइट आती और जाती हैं. ऐसे में कई बार विमानों के लेट हो जाने पर दो- तीन विमान के यात्री यहां एक साथ जमा हो जाते हैं, जिससे उन्हें परेशानी होती है.

Source: Prabhat Khabar