21 साल बाद जदयू के पूर्व विधायक रामबालक सिंह दोषी, सोमवार 13 तारीख को कोर्ट सुनाएगी सजा

बिहार के समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक प्रदेश जदयू महासचिव रामबालक सिंह को कोर्ट ने जेल भेज दिया है। बताया जाता है कि 5 जून 2000 को भोज खाकर लौट रहे सीपीएम कार्यकर्ता ललन सिंह पर जानलेवा हमला हुआ है। इस मामले में विधायक और उनके भाई पर मामला दर्ज करवाया गया था।

कांड संख्या 62/20 में न्यायालय में सुनवाई चल रही थी उस मामले में एडीजे 3 ने विधायक और उनके भाई लालूबाबू सिंह को दोषी करार दिया है। कोर्ट की तरफ से इस मामले में सोमवार को सजा सुनाई जाएगी। वहीं, वकील का कहना है कि इस मामले में सात साल की सजा का प्रवाधान है। कम से कम तीन साल की सजा हो सकती है। कोर्ट के फैसले के बाद पुलिस ने पूर्व विधायक और उनके भाई को हिरासत में ले लिया है।

विधायक पर 341, 323, 307, 341 और 27 आर्म्स एक्ट का मामला दर्ज है। वहीं, पीड़ित ने कहा कि अब सोमवार पर हमारी निगाहें टिकी हुई हैं। उन्होंने कहा कि अगर इसमें 307 नहीं लाया गया तो हम ऊपरी अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।