बिहार के समस्तीपुर से शराब पीने देवघर आये 15 लोग आपस में उलझे, बीच-बचाव करने पर एक व्यक्ति को चलती बस से फेंका

Advertisement

बिहार में शराब की बिक्री पर पाबंदी है. इसी के कारण लोग झारखंड के बॉर्डर में प्रवेश कर शराब पीते हैं. ऐसा ही एक वाकया गुरुवार को देवघर के जसीडीह में देखने को मिला. बिहार के समस्तीपुर जिला से कांवरिया वेश में बाबा मंदिर पूजा करने आये करीब 15 लोगों ने जमकर शराब पी और बस में सवार में होकर जाने लगे. इसी बीच जसीडीह के कुमैठा मोड़ के पास शराब की नशे में सभी लोग आपस में ही भिड़ गये. आपस में उलझते देख सगदाहा निवासी गुलाब वर्मा बीच-बचाव करने की कोशिश की, लेकिन इनलोगों ने गुलाब के मारपीट की और बस में बैठाकर दूर ले गये. इसके बाद चलती बस से फेंक दिया जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गये.

गुलाब काफी देर तक बेहोशी की हालत में सड़क किनारे पड़े रहे. उन्हें देखकर ग्रामीणों ने हो-हल्ला किया. फिर जानकारी उनके परिजनों को दी. जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहीं, मारपीट करने वालों में एक समस्तीपुर जिले के बांगरा थाना क्षेत्र के सिरसिया गांव निवासी मनोज शर्मा साथियों के साथ भागने में सफल नहीं हो सका. ग्रामीणों ने उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया.

Advertisement

बताया जाता है कि समस्तीपुर से लोग बाबा मंदिर पूजा करने देवघर आये थे. मंदिर बंद रहने की जानकारी मिलने पर उनलोगों ने देवघर बस स्टैंड के पास शराब खरीदी और बस से वापस लौटने लगे. कुमैठा मोड़ आते-आते नशे में धुत इन लोगों की आपस में ही कहासुनी हो गयी. सभी आपस में ही लड़ने लगे.

Advertisement

Advertisement