बिहार के 80 हजार स्‍कूलों में कैचअप कोर्स चलाने की तैयारी, डेढ़ करोड़ बच्‍चों को मिलेगा लाभ

Advertisement

प्रदेश में तकरीबन 80 हजार प्रारंभिक विद्यालयों, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कैचअप कोर्स से 1.66 करोड़ बच्चे पढ़ाई करेंगे। यूं कहें कि कैचअप कोर्स के माध्यम से विद्यार्थियों की बाधित पढ़ाई की भरपाई की जाएगी, ताकि प्रोन्नत कक्षाओं में नये पाठ्य-पुस्तकों से पढ़ाई में आसानी हो। साथ ही, पढ़ाई में कमजोर बच्चों पर खास फोकस होगा। इसमें शिक्षकों से लेकर प्रधानाध्यापक तक की अहम जिम्मेदारी होगी। ऐसे बच्चों के लिए अतिरिक्त कक्षाएं भी चलेंगी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने बच्चों को कैचअप कोर्स पढ़ाने की योजना बनाई है।

इसके लिए सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों तथा जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों की आनलाइन बैठक बुधवार को होगी। इसके साथ ही जिला शिक्षा पदाधिकारियों एवं संबंधित जिला कार्यक्रम पदाधिकारियों द्वारा जिला स्तर पर छोटे समूह में आफलाइन बैठकें आयोजित की जाएंगी। 12 अगस्त को प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों, प्रखंड साधनसेवियों एवं संकुल समन्वयकों की बैठक होगी। 13-14 अगस्त को माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानों की तथा 16-18 अगस्त को प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों के प्रधानों की बैठक जिला स्तर पर होगी।

Advertisement

75 फीसद हाजिरी की शर्त शिथिल कर योजनाओं की राशि जल्द होगी जारी : शिक्षा विभाग ने 75 फीसद हाजिरी की अनिवार्य शिथिल कर बच्चों को पोशाक, साइकिल एवं छात्रवृत्ति समेत अन्य योजना मद की राशि शीघ्र जारी करने की प्रक्रिया तेज कर दी है। पाठ्य-पुस्तकों के लिए डीबीटी के माध्यम से राशि भी मुहैया कराई जाएगी।

चेतना सत्र, बाल संसद व मीना मंच का आयोजन अनिवार्य

Advertisement

सभी विद्यालयों में विद्यार्थियों की उपस्थिति रहे, इस बात को ध्यान में रख सभी स्कूलों में चेतना सत्र, बाल संसद व मीना मंच की व्यवस्था अनिवार्य की गई है। वर्ग तीन से पांच तक दक्षता के आधार पर समूह शिक्षण एवं समूह निर्माण की व्यवस्था की जा रही है। 16 अगस्त से प्रारंभिक विद्यालयों में पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों की पढ़ाई भी 50 फीसद उपस्थिति के साथ शुरू होगी। इसलिए कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए बच्चों की नियमित उपस्थिति (एक दिन बीच कर) पर विशेष ध्यान देने को कहा गया है।

Advertisement

Advertisement