25 अगस्त को सीएम नीतीश देंगे जनता को सौगात, कई राज्य उच्च पथ का करेंगे लोकार्पण

Advertisement

किसी भी राज्य के सर्वांगीन विकास में सड़क निर्माण की मुख्य भूमिका होती है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकार ने शुरू से इस दिशा में कार्य करते हुऐ बिहार राज्य में सड़क परिवहन तीव, सुरक्षित, सुगम, सुखद एवं सुविधायुक्त के दिशा में सड़क निर्माण के विकास पर कार्य किया है.

राज्य के सभी राज्य उच्च पथों को सुदृढ़ीकरण एवं चैड़ीकरण की योजना पर कार्य किया जा रहा है. इस दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुये बिहार स्टेट रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड के द्वारा क्रियान्वित निम्नलिखित राज्य उच्च पथ का लोकार्पण माननीय मुख्यमंत्री, बिहार नीतीश कुमार के द्वारा दिनांक 25.08.2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया जा रहा है. पंकज कुमार, प्रबंध निदेशक, बिहार स्‍टेट रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा बताया गया कि बी0एस0आर0डी0सी0एल0 के द्वारा निर्मित निम्‍न परियोजना का लोकार्पण मुख्‍यमंत्री के द्वारा किया जाना है:-

Advertisement

(i) विहिया-जगदीशपुर पीरो-बिहटा राज्य उच्च पथ संख्या-102- यह राज्य उच्च पथ भोजपुर जिले में है. राज्य उच्च पथ पटना बक्सर 4-लेन पथ से सोन नदी के पश्चिमी किनारे आकर दनवार बिहटा में मिलता है जहाँ से नासरीगंज दाउदनगर पुल के माध्यम से मगध प्रमंडल क्षेत्र की संपर्कता स्थापित होती है. यह 54.519 कि0मी0 लंबा पथ है जिसकी लागत 504.208 करोड़ रू है. इसे 2-lane with paved shoulder (10m) चौड़ा बनाया गया है. इसमें आरा-सासाराम रेल लाईन पर पीरो ROB का निर्माण कार्य किया गया है.

(ii) अमरपुर-अकबरनगर (SH-85) यह पथ भागलपुर, मुंगेर एवं बांका जिलों की यातायात में अत्यधिक सहायक सिद्ध होगा. इसे 2-lane with paved shoulder (10 m) pkSM+k निर्माण किया गया है. जिसकी कुल लंबाई 29.3 कि0मी0 एवं लागत 220.719 करोड़ रू0 है. अकबर नगर के पास में सुलतानगंज सं अगुवानी घाट पर नया गंगापुल का निर्माण कार्य किया जा रहा है. उसके बन जाने के उपरांत इस पथ के माध्यम से उत्तर बिहार की सुगम संपर्कता स्थापित हो सकेगी.

Advertisement

(iii) घोघा-पंजवारा (SH-84) भागलपुर एवं बांका जिले के लिए अत्यंत उपयोगी इस राज्य उच्च पथ का निर्माण कार्य 332.00 करोड़ की लागत से किया गया है जिसकी कुल लंबाई 41.11 कि0मी0 है. इसके बन जाने से यह भागलपुर शहर के Outer Bypass की तरह भी काम करेगा जिससे संथालपरगना क्षेत्र से पत्थर लदे ट्रकों के आवागमन में व्यापक सहुलियत होगी. इस पथ में घोघा बाजार में एक रेल उपरि पुल का निर्माण किया जा रहा है जिसमें भू-अर्जन में समय लगने के कारण विलंब हुआ है. यह कार्य भी 1 जनवरी, 2022 तक कर लिया जायेगा

(iv) बिहारीगंज वाईपास- उदाकिशुनगंज मधेपुरा एवं सुपौल जिलों के लिए अत्यंत लाभकारी, उदाकिशुनगंज-वीरपुर (SH-91) के अंतर्गत बिहारीगंज वाईपास का निर्माण कार्य भू-अर्जन में बिलंब के फलस्वरूप देरी से कार्यान्वित हुआ है. अब 4.55 कि0मी0 लंबे इस वाईपास का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है जो 10 मी0 चौड़ा है. इसके बन जाने से यातायात अत्यंत सुगम हो गया है. उदाकिशुनगंज से भटगामा होते हुए विजयघाट पुल के माध्यम से नौगछिया तक की संपर्कता सुनिश्चित करने हेतु SH-58 का 10 मी0 चौड़ा निर्माण कार्य जारी है जो आगामी अक्टूबर माह में पूर्ण हो जायेगा. उसके उपरांत पूर्वी बिहार एवं झारखंड से कोसी प्रमंडल होते हुए संपूर्ण उत्तर बिहार एवं नेपाल सीमा तक की निर्बाध एवं सर्वमौसमी संपर्कता सुनिश्चित हो सकेगी.

Advertisement
Advertisement