बिहार में बड़ा हादसा टलाः अत्याधुनिक चिनूक हेलीकॉप्टर की बक्सर के खेत में इमरजेंसी लैंडिंग, वायुसेना के 20 से ज्यादा अफसर जवान थे सवार

Advertisement

बिहार के बक्सर में बुधवार की शाम भारतीय वायुसैनिकों के साथ बड़ा हादसा टल गया। वायुसेना के 20 से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों को लेकर जा रहे अत्याधुनिक चिनूक हेलीकॉप्टर की यहां के मानिकपुर गांव में इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। एक स्कूल के पास खेत में लैंडिंग के बाद मिट्टी गिली होने के कारण हेलीकॉप्टर के पहिये भी मिट्टी में धंस गए। मामले की जानकारी वायुसेना के उच्चाधिकारियों के साथ ही इंजीनियरिंग विभाग को भी दे दी गई है। उनके आने के बाद भी इसके यहां से दोबारा उड़ने की संभावना है। फिलहाल इसमें सवार अधिकारियों और कर्मचारियों को पास के मानिकपुर हाईस्कूल में ठहरने की व्यवस्था की जा रही है। जिस खेत में हेलीकॉप्टर को उतारा गया है वह मानिकपुर हाईस्कूल के मैदान का ही हिस्सा है।

बताया जा रहा है कि हेलीकॉप्टर ने प्रयागराज से उड़ान भरी थी। इसे बिहटा जाना था। इसी दौरान बक्सर में अचानक हेलीकॉप्टर के पंखों से चिंगारी निकलने लगी। इससे हेलीकॉप्टर से आवाज भी काफी तेज आने लगा। इसी बीच ग्रामीणों ने देखा कि डगमगाते हुए हेलीकॉप्टर नीचे आने लगा। इसके बाद मानिकपुर गांव में इसे उतरते देखा। माना जा रहा है कि पायलट ने बेहद सूझबूझ से काम लिया और हेलीकॉप्टर को सुरक्षित उतार लिया गया। कहा जा रहा है कि हेलीकॉप्टर में दो क्लास वन ऑफिसर और अन्य हवलदार, सिपाही और एसआई रैंक के जवान हैं।

Advertisement

लादेन को मार गिराने में निभाई थी भूमिका

अमेरिकी चिनूक हेलीकाप्टर ने ही पाकिस्तान में घुसकर ओसामा बिन लादेन को मार गिराने में अहम भूमिका निभाई थी। दो साल पहले पुलवामा हमले के बाद मार्च 2019 में इसे भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। यह हेलीकॉप्टर ऊंचे और दुर्गम इलाकों में भारी भरकम साजो सामान ले जाने में सक्षम माना जाता है।

Advertisement
Advertisement