हाजीपुर-मुसरीघरारी एनएच-103 के अलाइनमेंट पर बनेगा जन्दाहा बाइपास, दो साल में बनकर होगा तैयार

हाजीपुर-मुसरीघरारी एनएच-103 के अलाइनमेंट पर जन्दाहा बाजार के बाइपास निर्माण के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने करीब 52.86 करोड़ रुपये की लागत से भू-अर्जन की मंजूरी दी है. अगले दो वर्षों में जन्दाहा बाइपास का निर्माण पूरा करने का लक्ष्य है.

इस बाइपास के बनने से पटना से हाजीपुर होते हुए दरभंगा तक की यात्रा बेहतर तरीके से संभव होगी. साथ ही जन्दाहा शहर विकसित हो सकेगा. इसके लिए पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने राज्य में सुगम संपर्कता बहाल करने में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया है. उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा इस परियोजना के निर्माण में हर प्रकार का सहयोग दिया जायेगा.

राज्य में पटना शहर को दरभंगा से जोड़ने के लिए एनएच-103 (नया नं-322) एक महत्वपूर्ण सड़क है. दरभंगा हवाई अड्डा के चालू होने के बाद इसका महत्व बढ़ गया है. इस सड़क पर जन्दाहा में तीखा मोड़ है, लेकिन बसावट से सड़क चौड़ीकरण करना संभव नहीं है. इसको देखते हुए राज्य सरकार द्वारा जन्दाहा बाइपास बनाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया था.

इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार ने मंजूरी देकर भू-अर्जन के लिए 52.86 करोड़ रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति जारी कर दिया. इसके लिए भू-अर्जन की शुरुआती प्रक्रिया हो चुकी है. अब राशि की स्वीकृति मिलने के बाद प्रभावित रैयतों को मुआवजा भुगतान की कार्रवाई शुरू की जायेगी.

भू-अर्जन पूरा होने पर बाइपास के निर्माण के लिए भी केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से इसी वित्त वर्ष में राशि जारी होने की संभावना है. ऐसे में अगले दो वर्षों में जन्दाहा बाइपास का निर्माण पूरा करने का लक्ष्य है. बेहतर यातायात के लिए बाइपास का निर्माण राज्य सरकार द्वारा घोषित सात निश्चय-2 का भाग है.

Source: Prabhat Khabar