बिहार: ‘देश का PM कैसा हो, नीतीश कुमार जैसा हो’,JDU पार्टी कार्यलय में लगे नारे; राष्ट्रीय परिषद की बैठक में सर्वसम्मति से पास हुआ प्रस्ताव

Advertisement

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में देश का पीएम बनने की सारी खूबी मौजूद हैं,ये बात कई बार जदयू के नेता कह चुके हैं. रविवार को एक बार फिर जदयू (jdu) पार्टी कार्यलय में नीतीश कुमार को देश के प्रधानमंत्री पद का देवदार बताया गया है. कार्यल में समर्थकों ने ‘देश का PM कैसा हो, नीतीश कुमार जैसा हो’. इस तरह के नारे लगाए. साथ ही जदयू की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में नीतीश कुमार को पीएम पद का दावेदार बनाने को लेकर प्रस्ताव रखा गया था. जो सर्वसम्मति से पास कर दिया गया है.

हालांकि जदयू ने बाद में सफाई देते हुए कहा कि नीतीश कुमार PM मटेरियल हैं. PM उम्मीदवार नहीं है. जदयू महासचिव केसी त्यागी का तर्क है कि इससे बीजेपी-जदयू के बीच का भ्रम दूर होगा. वहीं राष्ट्रीय अध्यक्ष लालन सिंह ने कहा कि नीतीश में प्रधामनंत्री बनने की सारी योग्यताएं मौजूद हैं.

Advertisement

जिन योग्यताओं और समर्पण की आवश्यकता होती है वो सब है नीतीश कुमार में

जदयू प्रदेश मुख्यालय के कर्पूरी सभागार में पार्टी के नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केन्द्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह, संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा, सांसद बशिष्ठ नारायण सिंह समेत जदयू राष्ट्रीय परिषद के करीब ढाई सौ सदस्यों की उपस्थित के बीच पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने एक महत्वपूर्ण प्रस्ताव रखा. ललन सिंह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं और वही एनडीए में पीएम पद के प्रत्याशी भी हैं. लिहाजा, नीतीश कुमार इस पद के दावेदार नहीं हैं. लेकिन, हमारा मानना है कि पीएम पद के लिए जिन योग्यताओं और जिस आला दर्जे के समर्पण तथा दक्षताओं की जरूरत होती है, वो सभी नीतीश कुमार में हैं. ललन सिंह के इस प्रस्ताव को जदयू राष्ट्रीय परिषद ने सर्वसम्मति से पारित किया गया है.

Advertisement

पीएम ने भी नहीं खारिज किया प्रस्ताव

बैठक में कुल 9 प्रस्ताव पारित किये गये हैं. प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने बताया कि जदयू इन अफवाहों का खंडन करता है कि जातीय जनगणना से अति पिछड़ों की गोलबंदी होगी और यह अपर कास्ट के खिलाफ है. जातीय जनगणना सभी के पक्ष में है, खासतौर से गरीब सवर्णों के भी इससे वास्तविक आंकड़े मिलेंगे. इसे केवल जदयू-बीजेपी करके नहीं देखना चाहिए, देशभर की तमाम पार्टियां इसके पक्ष में हैं. प्रधानमंत्री ने भी नीतीश कुमार के नेतृत्व में गए प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात में इस विषय को सुना. एक बार भी उन्होंने इस मांग को खारिज नहीं किया. जदयू राष्ट्रीय परिषद ने मुख्यमंत्री के इस पहल की सराहना की है.

Advertisement
Advertisement