बिहार में राशन कार्ड बनाने के नाम पर हो रहा था फर्जीवाड़ा, पीड़ित ने लिखा सचिव को पत्र

ऑनलाइन माध्यम से बन रहे राशन कार्ड की डिटेल जानकारी लेकर जालसाज राशन कार्ड धारकों से राशि की मांग कर रहे हैं. जालसाज द्वारा राशन कार्ड धारकों को राशन कार्ड रद्द होने की धमकी भी दी जा रही है. इसी तरह की एक शिकायत खाद्य विभाग के सचिव के पास आई है. शिकायत में कहा गया है कि पीएम योजना से राशि मिलने आदि का झांसा देकर कार्डधारी से फर्जी तरीके से राशि ऐंठी जा रही है. झांसे में आने वाले से बैंक एकाउंट नंबर तक मांग लिया जा रहा है.

खाद्य व उपभोक्ता संरक्षण विभाग के साइट पर राशन कार्ड के लिए जमा होने वाले आवेदन के बाद तैयार राशन कार्ड के माध्यम से लोगों के मोबाइल नंबर पर ठगी की जा रही है. मोबाइल पर फोन करनेवाला खुद को राशन विभाग का अधिकारी बता कर ठगी का काम कर रहा है. इसे लेकर वार्ड संख्या 48 के वार्ड पार्षद व निगम के सशक्त स्थायी समिति के सदस्य इंद्रदीप कुमार चंद्रवंशी ने गृह विभाग व खाद्य आपूर्ति व उपभोक्ता संरक्षण विभाग के प्रधान सचिव को पत्र दिया है.

पत्र में कहा गया है कि राशन कार्ड अपडेट व राशन का पैसा भेजने के नाम पर अपराधियों का गिरोह राशनिंग विभाग का अधिकारी बन कर लोगों को फंसाने का काम कर रहा है. राशन कार्ड में अंकित परिवार के सदस्यों के बारे में जानकारी देकर उन्हें विश्वास में लेकर बैंक खाता का डिटेल साझा करने को मजबूर कर रहा है.

अपराधियों द्वारा मोबाइल नंबर 9199660693, 7761846534 से लोगों को कॉल व 9790307952 वाट्सएप के माध्यम से बैंक खाता की जानकारी प्राप्त कर उपभोक्ता के मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त कर खाता से पैसा निकाल रहा है. इस संबंध में पीड़ितों ने थाना में भी शिकायत दर्ज करायी है. विषय को गंभीरता से लेकर इस फर्जीवाड़े पर अविलंब रोक लगाते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गयी है.

Input- Prabhat khabar