बिहार का बेटा आदर्श आनंद ने Zee TV के शो सहित कई बड़े शो में कर चूका है सिरकत, जानिए कैसे पाई यह मुकाम

Advertisement

अक्सर लोग कुछ अलग तरह के सोच रखने वालों का मजाक उड़ाया करते हैं. आज जो भी समाज की पुरानी सोच से हटकर कुछ नया करने का विचार रखते हैं उन्हें ऐसे ही मजाक करता नो का सामना करना पड़ता है लेकिन जब उनकी कामयाबी सबके सामने आती है तो सबका मुंह बंद हो जाता है. बिहार के रहने वाले आदर्श आनंद के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है।

लोग पागल कहते थे आज टिकटॉक यूट्यूब ने दिलाई पुरे देश में पहचान

Advertisement

बता दें कि वह अक्सर अपने मोबाइल से वीडियो बनाकर यूट्यूब और टिक टॉक पर डाला करते थे. इन सब कामों को देख कर लोग कहते थे ये मास्टर का बेटा पगला गया है, लेकिन वीडियो को काफी पसंद किया गया. बता दें कि सोशल प्लेटफार्म टिकटॉक एप पर पांच लाख से ज्यादा फॉलोअर्स और यूट्यूब में भी वीडियो को दो लाख लोगों ने पसंद किया है. इसके साथ ही वीडियो को इतना पसंद किया गया कि जीटीवी के कार्यक्रम मूवी मस्ती विथ मनीष पॉल में चयन के लिए मुंबई से कॉल आया था. जानकारी के अनुसार आनंद का ऑनलाइन इंटरव्यू लिया गया और फिर आनंद का चयन इस शो में एक डांसर के रूप में हुआ है जिसका की प्रसारण जल्दी टीवी पर किया जाना है।

पिता ट्युसन पढ़ा कर चलते थे घर आज बीटा बन गया स्टार बता दे कि उनके पिता रविकर प्रसाद कर्ण ट्यूशन पढ़ाते हैं और मां मधुबाला देवी गृहिणी हैं.उनकी दो छोटी बहन पढ़ती हैं। आदर्श ने बताया कि उनके पास पैसे नहीं थे तो शिक्षक जीडी ज्ञानी ने एक ऑडिशन में चंडीगढ़ जाने के लिए ट्रेन का टिकट कराया था आदर्श के मित्र शशांक शेखर ने बताया कि उसने भागलपुर का नाम रोशन किया है इसके साथ ही यूट्यूब पर आदर्श आनंद और बाप रे बाप आदर्श आनंद के नाम से चैनल भी हैं आज आदर्श भागलपुर के साथ-साथ पूरे देश के युवाओं के लिए एक मिसाल बन गए हैं. अब लोग आदर्श की तरह ही अपने अंदर के टैलेंट को ही अपना करियर बनाने की सोच रहे हैं।

Advertisement

बता दें कि आदर्श के गेम शो की शूटिंग मुंबई में हुई जहां उन्होंने एक्ट्रेस अनन्य पांडे के साथ गेम शो में लगभग 1 सप्ताह तक पार्टिसिपेट किया. इसके साथ साथ इस शो में टीवी के प्रसिद्ध गोष्ट मनीष पॉल के साथ चंकी पांडे भी मौजूद थे जानकारी के अनुसार आनंद कोपुरस्कार के रूप में 55 इंच का टेलीविजन, सहित कई गिफ्ट हैंपर भी दिया गया इसके साथ ही चैनल ने उन्हें तीन महीने के बांड पर हस्ताक्षर भी कराया।

Advertisement

Advertisement