पटना के नए बस स्‍टैंड को देख रह जाएंगे दंग, मीठापुर बस अड्डे की रुलाने वाली तस्‍वीर अब बन जाएगी अतीत

बिहार की राजधानी पटना में नया बस स्‍टैंड बनकर तैयार हो गया है। यहां से बसें खुलने लगी हैं और अगले डेढ़ महीने में मीठापुर के पुराने बस स्‍टैंड को पूरी तरह बंद कर देने की योजना है। 15 जुलाई से सभी बसें नए पाटलिपुत्र अंतरराज्यीय बस टर्मिनल से ही खुलेंगी। यह बस अड्डा पुराने मीठापुर बस अड्डे से पूरब की तरफ बाईपास रोड के सटे ही पटना-गया बाईपास रोड में स्थित है। नए बस पड़ाव में अभी यात्रियों को सिर्फ आवश्यक जनसुविधाएं उपलब्ध होंगी। मॉल और मल्टीप्लेक्स, रेस्टोरेंट, बैंक और रिटेल शॉप के लिए अभी इंतजार करना होगी।

पुलिस चौकी और थाने की पेट्रोलिंग भी होगी

यात्रियों की सुरक्षा के लिए यहां निजी सुरक्षा गार्ड के अलावा पुलिस चौकी और थाने की पेट्रोलिंग व्यवस्था रहेगी। करीब 25.2 एकड़ में आधुनिक सुविधाओं से लैस आठ मंजिला भवन का निर्माण होना है। बस टर्मिनल के निर्माण के लिए अप्रैल 2015 से एजेंसी चयन की प्रक्रिया शुरू हुई थी और तय था कि 24 माह में कार्य पूरा करा लिया जाएगा। देर से ही सही अगले माह बसों का परिचालन शुरू हो जाएगा। तत्काल यात्रियों के लिए प्रतीक्षालय, शौचालय, बिजली और पानी का इंतजाम पूरा कर लिया जाएगा।

बस टर्मिनल में यात्री सुरक्षा को निजी गार्ड, सीसी कैमरे की निगरानी मॉल, मल्टीप्लेक्स, फूड प्लाजा के लिए अभी करना होगा इंतजार प्रतीक्षालय, शौचालय, रोशनी और आवश्यक सेवा होगी सुलभ परिसर में पुलिस चौकी और थाने की पेट्रोलिंग गाड़ी लगाएगी गश्त

प्रदेशभर से बसों के आवागमन के मद्देनजर यहां 3000 बसों के लिए प्लेटफॉर्म के निर्माण का लक्ष्य था। डिजाइन इस तरह किया गया कि करीब 1.50 लाख यात्रियों के आवागमन में भी कोई दिक्कत नहीं हो। योजना के अनुसार मॉल, मल्टीप्लेक्स, बैंक, एटीएम, रिटेल शॉप, फूड प्लाजा, डॉरमेट्री, होटल, सरकारी और निजी कार्यालय के लिए जगह का प्रविधान भवन में किया गया है।

नए बस टर्मिनल को चालू करने के साथ ही यहां से सिटी बसें शहर के विभिन्न मार्ग के लिए खुलेंगी। पटना साहिब, गांधी मैदान, करबिगहिया, राजेंद्रनगर टर्मिनल, पटना जंक्शन, एम्स पटना, दानापुर, फुलवारीशरीफ, सचिवालय सहित अन्य प्रमुख इलाकों के लिए नगर बसें चलेंगी। 25 एकड़ से अधिक क्षेत्र के परिसर में तत्काल पुलिस चौकी और निजी सुरक्षा गार्ड और सीसी कैमरे की निगरानी होगी।

Input: dainik jagran