प्रीति का राजस्व पदाधिकारी के पद पर चयन होने पर गांव में हर्ष, गाँव के लोगों के लिए बनी मिशाल

खगड़िया जिले के महेशखूँट पंचायत क्षेत्र के राजधाम गाँव के निवासी किरण कुमार सिंह, जो कि चंद्रशेखर सिंह बालिका उच्च विद्यालय के प्रधानाध्यापक हैं, की पुत्री प्रीति कुमारी बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित 64 वीं की परीक्षा में 564 रैंक लाकर बिहार राजस्व सेवा में राजस्व पदाधिकारी के पद पर चयन की गई हैं। राजधाम गाँव निवासी प्रीति चौहान का राजस्व सेवा में चयन किये जाने पर पूरे क्षेत्र में जश्न का माहौल हैं। प्रीति ने दसवीं की पढाई चंद्रशेखर सिंह बालिका उच्च विद्यालय महेशखूँट से की। जबकि 12 वीं की पढ़ाई एस एम कॉलेज भागलपुर से की हैं। प्रीति ने राजनीति शास्त्र में स्नातक एस एम कॉलेज भागलपुर से ही की हैं तथा राजनीति शास्त्र में ही स्नात्कोत्तर नालंदा ओपेन यूनिवर्सिटी पटना से की हैं। ज्ञातव्य हो कि प्रीति शुरु से ही मेधावी छात्रा रही हैं और कक्षा में हमेशा अव्वल स्थान लाती थी। प्रीति ने बताया हैं कि हमेशा से ही सिविल सर्विस में आने का उनका सपना था और जिसके लिये वह लगन और मेहनत से लगी रही और अंततः सफलता हासिल की।

प्रीति के पिता किरण कुमार सिंह प्रधानध्यापक हैं जबकि माता रंजना सिंह खगड़िया जिले के चर्चित ओर्थोपीडिक हॉस्पीटल रंजना ओर्थो केयर की डायरेक्टर हैं! किरण कुमार सिंह के तीन बेटियां एवं 2 बेटे हैं, सभी सरकारी अधिकारी हैं! प्रीति की बड़ी बहन ममता कुमारी पंजाब नेशनल बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं जबकि उनके पति बैंक ऑफ़ बड़ौदा में मुख्य प्रबंधक हैं। दुसरी बड़ी बहन ज्योति कुमारी यूको बैंक में मैनेजर हैं तथा उनके पति शैलेंद्र कुमार सिंह बिहार प्रशासनिक सेवा में भागलपुर में सीनियर डिप्टी कलेक्टर हैं।

इधर प्रीति के भाई डॉ योगेश कुमार भागलपुर के जवाहर लाल नेहरु मेडिकल कॉलेज में सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर हैं जो कि खगड़िया के जाने माने हड्डी एवं नस रोग विशेषज्ञ भी हैं तथा छोटा भाई अवनीश कुमार का आईआईटी रुड़की से पास आउट होने के बाद भारत सरकार के वित्त विभाग में चयन किया गया हैं। प्रीति का राजस्व सेवा में चयन होने के बाद परिजनों एवं शुभ चिन्तकों द्वारा बधाई दिये जाने का तान्ता लगा रहा एवं ग्रामीणों से बात चित होने पर उनलोगों ने बताया की इस परिवार ने खगड़िया जिला का नाम पूरे बिहार में रौशन किया हैं और हमें गर्व हैं कि हमलोग के गाँव के लोगों के लिए बनी मिशाल।