समस्तीपुर-जलजमाव से त्रस्त ग्रामीणों ने एसडीओ से लगाई गुहार

Advertisement

समस्तीपुर । रोसड़ा में पिछले दस दिनों से रुक-रुक कर हो रही बारिश से जन जीवन बुरी तरह प्रभावित है। प्रखंड की जहांगीरपुर उत्तर पंचायत के एरौत गांव के वार्ड नंबर-1 की स्थिति अत्यंत ही दयनीय है। इस समस्या से त्रस्त गांव की महिलाएं मंगलवार को अनुमंडल कार्यालय पहुंची और अपनी समस्याओं से अनुमंडल पदाधिकारी को अवगत कराते हुए अविलंब इससे निजात दिलाने की मांग की। मुख्य सड़क से घरों तक पहुंचने के लिए कीचड़युक्त घुटने भर पानी से होकर गुजरने तथा जलजमाव को लेकर नारकीय स्थिति उत्पन्न रहना बताया है। जलजमाव से महादलित, पिछड़ी एवं अति पिछड़ी जाति के एक सौ से अधिक परिवार प्रभावित रहना बताया। ग्रामीणों ने नाले का अभाव एवं जलनिकासी की समुचित व्यवस्था नहीं रहने के कारण लोगों के घरों में पानी प्रवेश करना बताते हुए गया है। सांप, बिच्छु, कीड़े-मकेरों के प्रकोप के साथ-साथ महामारी की भी आशंका जताया है। जलजमाव के कारण लोगों के घरों में चुल्हा चलना भी मुश्किल बताया जा रहा है। वहीं मवेशी पालकों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जल जमाव से संपूर्ण मोहल्ला झील में तब्दील हो चुका है। पीड़ित सत्या देवी ने हर साल बरसात के मौसम में उक्त समस्या से जुझने के बाद भी आज तक इसका निदान नहीं होने का आरोप लगाई है। एसडीओ को ज्ञापन सौंपने वालों में गणेश सहनी, रामविलास सहनी, प्रेमा सहनी, सुशांत कुमार राम, मुन्ना सहनी, सत्या देवी, अमन कुमार, विनोद राम, परमेश्वर राम, कारी राम, लक्ष्मी राम, चंदन सहनी आदि के हस्ताक्षर शामिल है। एसडीओ ने बीडीओ एवं सीओ को जांचोपंरात जल निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

Advertisement

Advertisement