समस्तीपुर-बेलारी हाईस्कूल को मिला +2 का दर्जा, स्थानीय लोगों में हर्ष माहौल

Advertisement

प्रखंड अंतर्गत बेलारी पंचायत स्थित, राजकियकृत हरदीश नारायण उच्च विद्यालय को, इण्टरमीडिएट कॉलेज का दर्जा मिलने से, स्थानीय पोषक क्षेत्र के लोगों तथा बच्चों में, हर्ष का माहौल देखा जा रहा है। इस विद्यालय के इन्टर कॉलेज में परिवर्तित हो जाने से, यहां के लोगों की बहुप्रतिक्षित मांगें पुरी हो गयी है। शिक्षा विभाग के द्वारा इस विद्यालय को नया कोड भी आवंटित कर दिया गया है। इस विद्यालय के इन्टर कॉलेज में परिवर्तित हो जाने, तथा कोड आवंटित हो जाने से से, इसके पोषक क्षेत्र खासकर बेलारी, लखनीपुर महेशपट्टी, गावपुर, मालती आदि गांव के अभिभावकों में भी काफी खुशी का माहौल देखा जा रहा है। स्थानीय लोगों में समाजसेवी अशोक पुष्पम, पैक्स अध्यक्ष गावपुर विद्यानंद सिंह, स्थानीय व्यवसायी तेजनारायण सिंह, मनोज कुमार सिंह, अविनाश कुमार सिंह, राजद नेता परवेज आलम, डॉक्टर प्रमोद कुमार सिंह, हरि किशोर प्रसाद सिंह उर्फ सेठजी सहित, दर्जनों लोगों ने बताया कि, इस विद्यालय को कोड आवंटित हो जाने से, यहां के बच्चों को अपनी पढ़ाई पुरी करने के लिए, अन्य राज्यों तथा शहरों तक जाना नही पड़ेगा।

प्रखंड अंतर्गत बेलारी पंचायत स्थित, राजकियकृत हरदीश नारायण उच्च विद्यालय को, इण्टरमीडिएट कॉलेज का दर्जा मिलने से, स्थानीय पोषक क्षेत्र के लोगों तथा बच्चों में, हर्ष का माहौल देखा जा रहा है। इस विद्यालय के इन्टर कॉलेज में परिवर्तित हो जाने से, यहां के लोगों की बहुप्रतिक्षित मांगें पुरी हो गयी है। शिक्षा विभाग के द्वारा इस विद्यालय को नया कोड भी आवंटित कर दिया गया है। इस विद्यालय के इन्टर कॉलेज में परिवर्तित हो जाने, तथा कोड आवंटित हो जाने से से, इसके पोषक क्षेत्र खासकर बेलारी, लखनीपुर महेशपट्टी, गावपुर, मालती आदि गांव के अभिभावकों में भी काफी खुशी का माहौल देखा जा रहा है। स्थानीय लोगों में समाजसेवी अशोक पुष्पम, पैक्स अध्यक्ष गावपुर विद्यानंद सिंह, स्थानीय व्यवसायी तेजनारायण सिंह, मनोज कुमार सिंह, अविनाश कुमार सिंह, राजद नेता परवेज आलम, डॉक्टर प्रमोद कुमार सिंह, हरि किशोर प्रसाद सिंह उर्फ सेठजी सहित, दर्जनों लोगों ने बताया कि, इस विद्यालय को कोड आवंटित हो जाने से, यहां के बच्चों को अपनी पढ़ाई पुरी करने के लिए, अन्य राज्यों तथा शहरों तक जाना नही पड़ेगा।

Advertisement

उन्हें अब भीड़ भाड़ से अलग शांत वातावरण में, घर के पास ही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान की जाएगी। वहीं इस विद्यालय को इण्टरमीडिएट कॉलेज का दर्जा मिलने, तथा कोड आवंटित किए जाने पर खुशी जताते हुए, उजियारपुर विध़ायक आलोक कुमार मेहता ने, शिक्षा विभाग का आभार प्रकट करते हुए कहा कि, वह हमेशा से इस विद्यालय के प्रति समर्पित थे, और सदा समर्पित रहेंगे। उन्होंने इस विद्यालय में नामांकन कराने वाले छात्रों को, अग्रिम बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। विद्यालय को इण्टरमीडिएट का दर्जा मिलने के बाद, विभाग द्वारा विद्यालय को उपलब्ध कराए जाने वाली मूलभूत सुविधाओं के बारे में, पुछे जाने पर जिला शिक्षा पदाधिकारी समस्तीपुर, वीरेन्द्र नारायण ने बताया कि, राजकीयकृत हरदीश नारायण उच्च विद्यालय बेलारी को, इन्टर कॉलेज का दर्जा देकर कोड आवंटित कर दिया गया है, तथा कॉलेज से संबंधित जो भी मूलभूल सुविधाएं होती है, वह विभाग द्वारा जैसे ही आवंटित की जाएगी, उपलब्ध करा दिया जाएगा। कॉलेज को आवंटित सीट के संबंध में पुछे जाने पर हरदीश नारायण उच्च विद्यालय बेलारी के वरीय लिपिक नसीम जी तथा प्रमोद रजक ने बताया कि, तत्काल विभाग द्वारा तीनो संकाय, यथा आर्टस, कॉमर्स तथा साईंस में 40, 40 सीटें, कुल 120 सीटें उपलब्ध कराई गयी है, आने वाले दिनों में सीटों की संख्या में भी विभाग द्वारा बढ़ोतरी की जाएगी।

आपको बता दें कि उजियारपुर प्रखंड क्षेत्र में, स्थानीय स्तर पर कुछ निजी कॉलेज भी हैं, लेकिन कॉलेज में जारी वंशवाद के कारण, तथा छात्रों से कॉलेज के विभिन्न मदों में की जा रही लूट खसोट के कारण आसपास के बच्चे इण्टरमीडिएट में नामांकन के लिए शहरों तथा दुसरे जिला व राज्यों का रूख कर लेते थे, लेकिन हरदीश नारायण उच्च विद्यालय बेलारी को इण्टरमीडिएट तक की मान्यता व कोड मिल जाने से इस पोषक क्षेत्र के बच्चों को काफी सहुलियतें मिलेंगी।

Advertisement
Advertisement