समस्तीपुर -कोरोना से पति के मौत के बाद पुलिस कांस्टेबल पत्नी डिप्रेशन में चली गई और खुदकुशी का रास्ता चुना

Advertisement

बिहार के समस्तीपुर में एक महिला ने पति के साथ-साथ जीने मरने की कसम को तो बखूबी निभाया लेकिन ऐसा कदम उठाकर उसने अपने ही दो मासूम बच्चों से मां का दुलार और प्यार छीन लिया । पति की कोरोना से मौत के बाद पुलिस कांस्टेबल पत्नी डिप्रेशन में चली गई और खुदकुशी का रास्ता चुना। पर महिला के इस फैसले के कारण उसके दो बच्चे एक तीन साल का प्रियांशू और दूसरा तीन माह का दुधमुंहा शिव्यांश अनाथ हो गए । पति से मुहब्बत की कसम तो पूरी हो गई लेकिन दोनो बच्चों के प्रति मां की ममता पीछे छूट गई…

Advertisement

बता दें कि समस्तीपुर के नगरगामा पंचायत के मुखिया मंजीत कुमार की कोरोना से मौत के बाद डिप्रेशन में चल रही कांस्टेबल पत्नी रीता कुमारी (30) ने बुधवार की दोपहर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली । मृतका पुलिस कांस्टेबल रीता कुमारी के पति नगरगामा पंचायत के मुखिया मंजीत कुमार की कोरोना संक्रमण के कारण 11 मई को बेगूसराय में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी । मुखिया के बड़े भाई शिक्षक संजीव कुमार ने बताया कि छोटे भाई मुखिया मंजीत की मौत के बाद उनकी पत्नी बहुत ही डिप्रेशन में थी । बुधवार की सुबह भी वह अपने तीन माह के बच्चे के साथ घर के कमड़े में सो रही थी । लेकिन कुछ देर बाद ही जब बच्चे उससे अलग हुए तो वह कमरा बंद कर फिर सो गई । दोपहर तक कोई बाहर न आने पर कमरा खुकवाने का प्रयास किया गया लेकिन कोई जवाब नहीं मिलने व बहू द्वारा कमरा नहीं खुलने पर कमरे का दरवाजा तोड़ दिया गया। सामने का दृश्य बहुत खौफनाक था, देखा गया कि वह फंदे में झूल रही थी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई है । वह अपने पीछे दो पुत्र बड़ा प्रियांशू कुमार(3) और छोटा शिव्यांश ( तीन माह) है । वह सहरसा में बीएमपी कस्टेबल के पद पर तैनात थी । फिलहाल वह मातृत्व अवकाश पर गांव में थी ।

Source- अंगद सिंह

Advertisement
Advertisement