करेह, कमला, कोशी व बागमती के जलस्तर में तेजी से वृद्धि जारी

समस्तीपुर। बिथान प्रखंड क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश के कारण करेह, कमला, कोशी, बागमती नदी के जलस्तर में तेजी से वृद्धि हो रही है। नदी में बढ़ते जलस्तर की वजह से बिथान के निचले इलाकों में तेजी से नदी का पानी प्रवेश कर रहा है। बाढ़ प्रभावित पंचायतों में जगह-जगह मुख्य सड़क जलमग्न हो गया है। इसके कारण दर्जनों गांवों का संपर्क प्रखंड, अनुमंडल एवं जिला मुख्यालय से टूटने लगा है। नदियों के लगातार जलस्तर में वृद्धि से लोग स्कूलों एवं ऊंचे स्थानों पर शरण लेने को मजबूर हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों ने बताया कि हर साल हम लोगों के घर में बाढ़ का पानी प्रवेश करता है। नदी के जलस्तर में पिछले कुछ दिनों से लगातार वृद्धि हो रही है. जलस्तर में बढ़ोतरी होने से बिथान के बाढ़ प्रभावित पंचायत बेलसंडी, सलहाबुजूर्ग, नरपा, सलहाचंदन कई निचले इलाकों में बाढ़ का पानी प्रवेश करने लगा है। रुक-रुक कर लगातार हो रही बारिश के कारण बाढ़ प्रभावित पंचायत समेत बिथान प्रखंड के सभी पंचायतों में मक्का, मूंग, सब्जी आदि फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है। बाढ़ प्रभावित पंचायतों में बाढ़ के पानी की वजह से प्रखंड मुख्यालय से संपर्क टूटने लगा है। करेह, कमला, कोशी नदी के जलस्तर में वृद्धि होने से नदी का पानी तेजी से निचले इलाके में फैलने लगा है। जलस्तर में हो रहे इजाफा से ग्रामीण बाढ़ की आशंका से भयभीत हैं। बिथान प्रखंड के नरपा पंचायत में बाढ़ का पानी तेजी से निचले इलाकों में प्रवेश कर रहा है। गांव की प्रमुख सड़कों पर बाढ़ का पानी सड़क से ऊपर से बह रहा है। करेह नदी के बढ़ते जलस्तर से चिरोटना गांव के समीप नदी में तेजी से कटाव हो रहा है।