टीका एक्सप्रेस की प्रगति पर समस्तीपुर डीएम शशांक शुभंकर ने जताई नाराजगी

समस्तीपुर। जिलाधिकारी शशांक शुभंकर की अध्यक्षता में कोविड टीकाकरण एक्सप्रेस की वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से समीक्षा की गई। बैठक में अपर समाहर्ता समस्तीपुर, सिविल सर्जन, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ,निदेशक लेखा एवं प्रशासन, डीसीएचसी प्रभारी, डीपीएम जीविका, डीपीओ आईसीडीएस, अपर सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी, जिला स्वास्थ्य प्रबंधक, जिला शिक्षा पदाधिकारी उपस्थित थे।

डीएम ने समीक्षा के दौरान प्रगति पर काफी नाराजगी जताई। टीका एक्सप्रेस में प्रखंडवार कवरेज देखने के बाद जिन पंचायतों में संबंधित एजेंसी यथा (एएनएम, आइसीडीएस एवं जीविका) द्वारा परफॉर्मेंस खराब रहा, उनसे पूछताछ करते हुए प्रगति के लिए आवश्यक निदेश दिया। सभी पीएचसी प्रभारी को निर्देश दिया गया कि टीका एक्सप्रेस पंचायतों में सुबह के 8:00 बजे तक पहुंचे, इसे सुनिश्चित करेंगे।

सबंधित एजेंसी जो टीकाकरण के कार्य में लगे हुए हैं, उन्हें निर्देशित किया गया कि 12 जून की समीक्षात्मक बैठक में अपना प्रगति प्रतिवेदन दिखाएंगे। वहीं सभी प्रखंड के अंचलाधिकारियों को निर्देश दिया कि बाढ़ राहत कार्यों में कार्य करने वाले कर्मी यथा रसोइया,सहायक रसोइया, नाविक/, सहायक नाविक, सभी नोडल पदाधिकारी एवं अन्य संबंधित कर्मियों का शतप्रतिशत टीकाकरण का कार्य 12 जून तक पूर्ण कराना सुनिश्चित करेंगे।

जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि प्राय: ऐसा देखा जाता है कि गांव में ठेकेदार या एजेंसियों के द्वारा जो जेसीबी से खुदाई करते हैं, बाद में गड्ढा को यथावत छोड़ देते हैं। जिसमें बाढ के समय पानी भर जाता है और छोटे बच्चे या लोगों के डूबने का खतरा रहता है।

ऐसी घटना को रोकने के उद्देश्य से सभी अंचलाधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने क्षेत्र के सभी क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर सर्वे करा लें। जिस ठेकेदार या एजेंसियों के द्वारा ऐसा किया पाया जाता है तो उस पर कार्रवाई करें। वर्तमान में मौजूद गड्ढों में लाल झंडा लगवाने को भी कहा।