बिहार में यास तूफान से कई जिलों में भारी बारिश, IMD ने जारी किया अलर्ट

पटना. बंगाल की खाड़ी में उठे यास तूफान की वजह से बंगाल और ओड़िशा के साथ-साथ बिहार के विभिन्न जिलों में भी मौसम में बदलाव दिख रहा है. बिहार के कई जिलों में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक यास तूफान के कारण बिहार के कई जिलों में अगले 3-4 दिनों तक मौसम ऐसा ही बना रह सकता है. IMD महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि बिहार, सब हिमालयन पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भी आज और कल भारी से भारी बारिश हो सकती है. झारखंड में भी आज और कल भारी बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया गया है.
मौसम विभाग ने एक दिन पहले भी चक्रवाती तूफान की वजह से बिहार की राजधानी पटना समेत कई जिलों में बारिश का अनुमान जारी किया था. विभाग के वैज्ञानिकों ने 26 से 30 मई तक इस तूफान के कारण मौसम में बदलाव की संभावना जताई थी. तूफान के कारण भारी बारिश, तेज हवा, वज्रपात, पेड़ों का टूटना, जलजमाव और बिजली सप्लाई बाधित रहने की आशंका जताई गई थी. इसलिए सभी संबंधित विभागों को चक्रवाती तूफान को ध्यान में रखते हुए अग्रिम व्यवस्था करने का निर्देश दे दिया गया है.

बिहार में यास तूफान को लेकर अलर्ट.

यास चक्रवात का असर बिहार के कई हिस्सों में देखने को मिल रहा है. नवादा, लखीसराय, दरभंगा, मधुबनी समेत कई जिलों में पिछले दो दिनों से तेज हवाओं के साथ-साथ बारिश हो रही है. बादल गरजने और बिजली चमकने के साथ-साथ रुक-रुककर बारिश हो रही है. मौसम में अचानक आए परिवर्तन से लोगों को गर्मी से राहत मिली है, लेकिन निचले इलाकों में जलजमाव से परेशानी भी हो रही है. दक्षिण बिहार के अधिकतर हिस्सों में यास तूफान का असर पड़ा है. मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक तूफान के कारण अगले तीन-चार दिनों तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा. इसलिए जिला प्रशासन ने लोगों से बेवजह घरों से बाहर न निकलने की अपील की है. संबंधित जिलों में डीएम विभागीय अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं. एसपी ने संबंधित पदाधिकारियों के साथ बैठक भी की थी. प्रभावित इलाकों में माइकिंग भी कराई जा रही है.