समस्तीपुर में टीका लगाने को गांवों में चलेगी वैक्सीन एक्सप्रेस, कोरोना संक्रमण जारी

Advertisement

कोरोना को खत्म करने के लिए जिले में टीका एक्सप्रेस चलेंगी। गांव-गांव जाकर लोगों को टीका लगाये जाएंगे। इस वाहन पर एएनम व राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) के कर्मी मौजूद रहेंगे। रोजाना एक वाहन से 200 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य है। अब सुदूरतम गांवों में ही 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। इसके लिए राज्य से टीका की मांग की गयी है।

Advertisement

अब बुजुर्गों को कोरोनारोधी टीका के लिए अस्पतालों या सेंटरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग माइक्रो प्लान बनाने में जुट गया है। संबंधित लोगों से प्रखंडवार पंचायतों की सूची, उनमें पड़ने वाले गांवों के नाम, वहां की आबादी समेत अन्य जानकारियां मांगी गयी हैं। इसके आधार पर जल्द ही माइक्रोप्लान बना लिया जाएगा। मौजूदा समय में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर ही सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। हालांकि, कई प्रखंड अपने आसपास के कुछ गांवों में भी कैंप लगाकर लोगों को टीका लगा रहे हैं।

सिविल सर्जन डॉ. सत्येंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि लोगों को सहज व सरल तरीके से टीका उपलब्ध कराने को लेकर ये वाहन गांवों में जाएंगे। कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाना ही एकमात्र उपाय है। हर वाहन पर स्वास्थ्यकर्मी मौजूद रहेंगे। माइक्रो प्लान के मुताबिक गांवों में वाहन जाएंगे। वहां के 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाया जाएगा। इसके लिए निबंधन की कोई आवश्यकता नहीं होगी। बल्कि, टीका एक्सप्रेस ऑफलाइन मोड में काम करेगी। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. सतीश कुमार सिन्हा ने बताया कि अब तक तीन लाख 92 हजार 51 लोगों को कोरोनारोधी वैक्सीन की डोज खपत हो चुकी है।

Advertisement

जांच पर भी दिया जा रहा जोर

कोरोना संकट से उबरने के लिए जांच पर जोर दिया गया है। पहले लोगों को अस्पताल तक जांच करने लिए आना पड़ता था। अब इसके लिए चलंत वाहन लाए गए हैं। कोविड जांच के लिए चलंत जांच टीम वाहन चलाई जा रही है। यह वाहन कोरोना से अधिक प्रभावित इलाकों या कंटेनमेंट जोन में जाकर लोगों की जांच कर रहा है।

Advertisement
Advertisement