रियल हीरो के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया केस, कोरोना मरीजों की मदद के लिए ऑटो को बनाया था मिनी एम्बुलेंस :

Advertisement

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में जावेद खान नाम के शख्स को लोगों की मदद के लिए अपने ऑटो को मिनी-एम्बुलेंस में बदलना महंगा पड़ गया। कोरोना से मचे हाहाकार में लोगों की मदद करने वाले जावेध खान के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। जावेध खान ने अपनी पत्नी के गहने को बेचकर अपने ऑटो को मिनी एम्बुलेंस का रूप दिया था।

Advertisement

इसी मिनी एंबुलेंस की मदद से जावेद खान मरीजों को अस्पताल और अस्पताल से घर पहुंचा रहे थे। लेकिन शनिवार को जावेद खान को भोपाल के छोला पुलिस थाने के पुलिस कर्मियों ने रोक दिया। गाड़ी रोके जाने के बाद जावेद ने पुलिस से अनुरोध किया कि वह इमरजेंसी ड्यूटी पर है फिर बात नहीं सुनी गई।

बताने के बाद भी नहीं सुने पुलिसकर्मी

Advertisement

जावेद खान ने कहा है कि मैंने उन्हें बताया कि मैंने अपने ऑटो को एम्बुलेंस में बदल दिया है और मेरे ऑटो में कोरोना मरीजों की मदद करने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर भी है, लेकिन उन्होंने मुझे डांटना शुरू कर दिया। मैं घटना का वीडियो भी शूट कर रहा था। पुलिस कर्मी आहत हुए और केस दर्ज कर दिया। जैसे ही सोशल मीडिया पुलिस की आलोचना होनी शुरू हुई भोपाल पुलिस ने केस को वापस लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी।

वापस लिया जा रहा है केस

Advertisement

भोपाल दक्षिण के पुलिस अधीक्षक विजय खत्री ने कहा कि भोपाल में पूर्ण लॉकडाउन है। सार्वजनिक वाहनों की आवाजाही पर पूर्ण प्रतिबंध है। पुलिस ने उनसे पूछा, लेकिन उन्होंने अपनी यात्रा के उद्देश्य के बारे में नहीं बताया और बैरिकेड हटाने लगा था। इसलिए पुलिस ने धारा 144 के उल्लंघन के लिए मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि बाद में, हमें उसकी कहानी के बारे में पता चला इसलिए हमने उसके खिलाफ मुकदमा वापस लेने की प्रक्रिया शुरू की है।

Advertisement

Advertisement