लॉकडाउन : पटना में 5 बाराती से साथ निकली बारात, सुनसान सड़कों से गुजरी दूल्हे की घोड़ी

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने को लेकर सरकार की ओर से पूरे बिहार में लॉकडाउन लगाया गया है. पहले 15 मई तक फिर इसे बढ़ाकर 25 मई कर दी गयी है. इसको लेकर राज्य सरकार की ओर से कई तरह पाबंदियां लगायी गयी है. जिसमें एक शादी विवाह को लेकर भी है. नये गाइडलाइन के अनुसार शादी विवाह में अब 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकते हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना काल में लोगों से शादी विवाह टालने तक की अपील कर दी है. इसका असर भी देखने को मिल रहा है. कई होटलों या बैंक्वेट हॉल जो पहले से बुक थे उसे रद्द कर दिया गया. कई लोगों ने शादी को कोरोना काल के बाद करने की घोषणा कर दी. हालांकि अभी भी कुछ लोग शादी विवाह कर रहे हैं. लेकिन वह भी पूरी तरह से कोरोना गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं.

कुछ ऐसा ही देखने को मिला पटना के कदमकुंआ थाना क्षेत्र से निकली एक बारात में, जिसमें दूल्हा को मिलाकर कुल पांच व्यक्ति शामिल थे. 5 बाराती के साथ दूल्हे राजा अपनी दुल्हनियां लेने निकल पड़े. फिर दूल्हे की इस सुझबुझ की चारों तरफ तारीफ होने लगी. इस शादी की इलाके में खूब चर्चा हो रही है. इस बारात में एक और खास बात थी कि इसमें बैंड बाजा भी नहीं था. सुनसान सड़क पर घोड़ी पर सवार होकर दूल्हे राजा अपनी दुल्हनियां को लेने निकले थे.

बता दें कि बिहार में ऐसे लोगों की सुझबुझ और लॉकडाउन के कारण संक्रमण दर में कमी आयी है. प्रत्येक दिन स्वास्थ्य विभाग की ओर से जो आंकड़े जारी किए जा रहे हैं उसमें कमी दर्ज की जा रही है. बिहार में कुल एक्टिव केस की संख्या 1 लाख से घटकर काफी कम हो गयी है. जो एक अच्छी खबर है. हालांकि अभी पूरी तरह से बिहार पर से कोरोना का खतरा टला नहीं है. हमें और सजग होने की जरूरत है.