समस्तीपुर में मास्क निर्माण कर रोजगार के साथ कोरोना काल में मदद भी कर रही जीविका दीदी

उजियारपुर (समस्तीपुर)। कोरोना वायरस के बढते प्रभाव को मास्क पहनकर ही रोका जा सकता है। लेकिन इतने लोगों को जल्दी मास्क भी उपलब्ध कराना है। ऐसे जीविका दीदियों को यह जिम्मेवारी दी गई है कि वे ज्यादा से ज्यादा मास्क का निर्माण करें। विभाग के पदाधिकारियों के निर्देश पर जीविका दीदी इसमे जुटी हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि एक ओर जहां आमलोगों को मास्क उपलब्ध करार कोरोना से बचाव में वह सहायक बन रही हैं, वहीं दूसरी ओर लॉकडाउन में उन्हें काम भी मिल गया है। जिससे कुछ अर्थोपार्जन भी हो जाएगा। सरकारी या गैरसरकारी स्तर पर जीविका दीदियां मास्क तैयार कर उपलब्ध कराती हैं।

जीविका के माध्यम से सूती कपड़े का डबल लेयर वाली मास्क 15 रुपये प्रति पीस के दर से बेची जाती है। जीविका के प्रखंड परियोजना प्रबंधक रजनीश कुमार सिंह ने बताया कि बिरनामा तुला, बेलारी तथा परोरिया ग्राम पंचायत से मास्क के लिए 52 हजार 4 सौ रुपये का डिमांड हुई है। जिसकी आपूर्ति के लिए गावपुर तथा रायपुर के 70 दीदियों के समूह को मास्क बनाने के कार्य में लगाया गया है। परियोजना प्रबंधक ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान आजीविका के लिए जीविका से जुड़ी महिलाओं को रोजगार का अवसर प्रदान किया जा रहा है, ताकि गरीब परिवार को आर्थिक परेशानी से बचाव किया जा सके।