कोरोना से जंग में स्वास्थ्य कर्मियों को 50 लाख का कवच, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज से मिलेगी सुविधा

कोरोना वायरस जैसी महामारी से जंग में अहम भूमिका निभा रहे स्वास्थ्य कर्मियों को 50 लाख रुपये का बीमा कवर मिलेगा। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर भारत सरकार ने स्वास्थ्य कर्मियों के लिए शुरू की गयी बीमा योजना की अवधि बढ़ा दी है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज इंश्योरेंस स्कीम की अवधि 180 दिनों यानी छह महीने के लिए बढ़ाई गई है। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी किया है। विदित हो कि इससे पूर्व में इस महामारी लड़ रहे चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मियों, नर्स, आशा और सफाई कर्मचारियों के अलावा एंबुलेंस के इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन (ईएमटी) और ड्राइवर के साथ-साथ डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ व केयर के पदाधिकारी, सलाहकार एवं क्षेत्रीय कर्मियों को भी शामिल किया गया है। कोविड-19 के तहत कर्तव्य पर कार्य के दौरान के आकस्मिक नुकसान होने पर व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा क्लेम की सुविधा द न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड से मिलेगी।

मरीजों के परिवहन कार्य पर मिलेगी सुविधा

जिले के एंबुलेंसकर्मियों को सुविधा दी जा रही है। समस्तीपुर में 39 एंबुलेंस संचालित हो रही हैं। इनमें 90 ईएमटी और 90 ड्राइवर कार्यरत हैं। इसमें कोरोना संदिग्ध मरीजों का परिवहन में संक्रमण का शिकार होने पर दुर्घटना होने पर बीमा की सुविधा दी जानी है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज से मिलेगी सुविधा

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत कोविड-19 से लडऩेवाले स्वास्थ्य कर्मचारियों को योजना का लाभ मिलेगा। कोरोना वायरस की रोकथाम एवं चिकित्सा में शामिल लोगों को विशेष बीमा योजना की सुविधा दी जाएगी। योजना के अनुसार कोई भी चिकित्सा कर्मी जो कोविड-19 के मरीज के चिकित्सा के क्रम में किसी दुर्घटना का शिकार होता है तो उन्हें 50 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति दी जाएगी। मरीज के चिकित्सा के क्रम में मृत्यु होने पर रिपोर्ट दी जानी है।

स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल ऊंचा करने का प्रयास

बीमा योजना के संबंध में सभी स्वास्थ्य कर्मियों नियमित, संविदागत, स्वास्थ्य संस्थानों में बाह्य स्त्रोत से प्राप्त कर्मी तक सूचना देने की बात कही गई है, ताकि महामारी से लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल ऊंचा रहे।

देना होगा दावा प्रपत्र

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत सरकारी अस्पतालों व चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत वह चिकित्साकर्मी जो कोरोना के रोकथाम व चिकित्सा कार्य से जुड़ा है, उसे विशेष बीमा योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। योजना के मुताबिक यदि कोई कर्मी कोरोना संक्रमित होकर किसी भी दुर्घटना का शिकार होता है तो उसे 50 लाख की बीमा की क्षतिपूर्ति दी जाएगी। बीमा योजना के लाभ के लिए दावा प्रपत्र देना होगा।

Input- Jagran