बस पड़ाव में कोरोना से बचाव के इंतजाम नहीं, यात्री भी बेपरवाह

समस्तीपुर । कोरोना संक्रमण के मामले प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। इसके बावजूद बस पड़ाव व बसों में शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है। बिना शारीरिक दूरी और मास्क पहने यात्री बसों में सफर करते नजर आ रहे हैं। यात्री वाहनों पर क्षमता से अधिक सवारियां बैठाई जा रही हैं। इससे कोरोना संक्रमण की स्थिति विस्फोटक हो सकती है। कोरोना फिर से बढ़ रहा है पर बचाव को लेकर कोई पहल नहीं है। गुरुवार को शहर के कर्पूरी बस पड़ाव में यात्री वाहनों पर अधिकांश लोग बिना मास्क और शारीरिक दूरी के यात्रा करते नजर आए। कुछ लोग मुंह- नाक के नीचे मास्क लगा रखे थे। जबकि इस तरह के मास्क पहनने का कोई फायदा नहीं है। बस पड़ाव में न तो थर्मल स्क्रीनिग की व्यवस्था की गई है और न कोविड- 19 जांच की। कोरोना से बचाव लेकर सभी इंतजाम हवा हवाई है। ऐसे में बिना जांच के दूसरे प्रदेश से आने वाले यात्रियों से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। बता दें कि शहर के कर्पूरी बस पड़ाव से प्रतिदिन हजारों की संख्या में यात्री सफर करते हैं। तीन दर्जन से अधिक बड़े यात्री वाहनों का परिचालन होता है। इसके बावजूद सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं है। जिले के विभिन्न स्थानों से रोज आने जाने वाले यात्रियों का कहना है कि कार्यस्थल पर समय से पहुंचना जरूरी है। इसके लिए मजबूरी बन जाती है। वहीं वाहन चालकों का कहना है कि यात्रियों को बस में बैठने से पहले मास्क पहनने के लिए कहा जाता है, लेकिन उन पर दबाब नहीं बनाया जा सकता। ऐसा करने पर लोग बेवजह उलझ जाते हैं। कई बार नोकझोंक व हाथापाई की नौबत आ जाती है।

बिना मास्क यात्रा की अनुमति नहीं

कोरोना संक्रमण को देखते हुए बसों के चालक व परिचालकों को साफ निर्देश है कि वे बिना मास्क पहने व सैनिटाइज कराए किसी भी यात्री को बसों में न चढ़ने दें। खुद भी मास्क और सैनिटाइजर का प्रयोग करें। लेकिन इसके बाद भी कोविड- 19 को लेकर लगातार लापरवाही बरती जा रही है।