समस्तीपुर सफाई कर्मी हड़ताल पर, कूड़े-कचरे से पटा शहर

दैनिक कर्मचारियों की हड़ताल के कारण शहर में सफाई व्यवस्था दूसरे दिन भी ठप रही। इसके कारण शहर में जगह-जगह कूड़े- कचरे का अंबार लगा रहा। ईपीएफ की राशि खाते पर जमा करने समेत पूर्व से लंबित सात सूत्री मांगों के समर्थन में स्थानीय निकाय कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं। मंगलवार को भी कार्य का बहिष्कार करते हुए दैनिक सफाई कर्मी व मजदूरों ने नगर निगम कार्यालय का घेराव किया। प्रदर्शनकारियों ने नगर निगम प्रशासन और प्रधान लिपिक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वे सभी निगम प्रशासन से लंबित सात सूत्री मांगों को पूरा करने की मांग कर रहे थे। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए संगठन के जिला सचिव लालबहादुर साह ने कहा कि नगर निगम प्रशासन और प्रधान लिपिक की मनमानी से सभी कर्मचारी क्षुब्ध हैं। बार-बार मांग के बावजूद अबतक समस्या का निदान नहीं हो सका है। नगर निगम प्रशासन से 13 माह के बकाया वेतन का भुगतान करने, वर्ष 1994 से अब तक वेतन से काटी गई भविष्य निधि की राशि ब्याज समेत खाता में जमा करने, दैनिक कर्मचारियों को वेतन से काटी गई ईपीएफ की राशि जमा करने, दैनिक मजदूरी 425 रुपये भुगतान करने, सेवानिवृत कर्मचारियों को आंशिक पेंशन राशि भुगतान करने, सभी कर्मचारियों के सर्विस बुक अद्यतन करने, नगर निगम कार्यालय के संचिकाओं की विशेष जांच कराने की मांग की है। उन्होंने बताया कि बीते 18 जनवरी को नगर परिषद के प्रशासनिक भवन में नगर प्रशासन और संगठन के पांच सदस्यीय प्रतिनिधियों के बीच लंबित मांगों को लेकर एक वार्ता हुई थी। इसमें नगर प्रशासन ने मांगों पर विचार करते हुए एक माह के निश्चित अंतराल के समस्याओं के निदान का आश्वासन दिया था। लेकिन अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जिलाध्यक्ष राजकुमार ने कहा कि मांगें पूरी होने तक सभी कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहेंगे। मौके पर चंद्रकला देवी, मीरा देवी, संजू देवी, रेखा देवी, सुरेखा देवी, पनमा देवी, ममता देवी, चुनचुन राम, रमेश, छोटेलाल राम, प्रमोद राम, दिलीप राम, सुरेन्द्र राम, गणेश ठाकुर, परमानंद कुशवाहा, संजीव कुमार समेत काफी संख्या में सफाई कर्मी मौजूद रहे।

चरमराई साफ सफाई की व्यवस्था

दैनिक सफाई कर्मियों के हड़ताल से शहर में साफ सफाई की व्यवस्था चरमरा गई है। कूड़ा उठाव नहीं होने से जगह-जगह कचरे का अंबार जमा है। मुहल्ले में भी गंदगी का लग या है। बता दें कि शहर में प्रतिदिन करीब 20 से 25 टन कचरे का उठाव किया जाता है। नगर परिषद के सभी 29 वार्डो में डोर टू डोर कचरे का उठाव किया जाता है। लेकिन, गत दो दिनों से कर्मियों के हड़ताल से साफ सफाई की पूरी व्यवस्था प्रभावित हो गई है।