बिहार के हस्तशिल्प कला को अब मिलेगा दुनिया भर में पहचान, एयरपोर्ट और स्टेशनों पर होगी बिक्री

बिहार के हस्तकला पूरे देश दुनिया में एक अलग अपना पहचान रखता है चाहे वह सिल्क की साड़ी हो या मिथिला पेंटिंग हो यह सभी कला पूरे देश और दुनिया में अपनी अलग पहचान रखती है वही इन सभी हस्तशिल्प कला को बढ़ावा देने के लिए बिहार सरकार अब नई पहल कर रही है बिहार सरकार ने अब बिहार हस्तशिल्प कला को वैश्विक पहचान देने की कोशिश में जुट गई है अब बिहार से जुड़ी सभी हस्तशिल्प कलाओं को देश के अलग अलग बड़े हवाई अड्डे पर बेचने की योजना बनाई जा रही है इसके साथ देश बड़े रेलवे स्टेशन से लेकर छोटे रेलवे स्टेशनों पर भी इन हस्तशिल्प कला की बिक्री की जाएगी।

अगर सरकार की यह कोशिश रंग लाई तो कहीं ना कहीं बिहार के लाखों बुनकरों और हस्तकला करने वाले लोगों को रोजगार मिलेगा इसको लेकर खुद बिहार के मंत्री अशोक चौधरी ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि जल्दी देश के प्रमुख एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर हस्तशिल्प कला उत्पादों की बिक्री होने से बाजार बढ़ेगा और इस क्षेत्र में रोजगार भी बढ़ेगा।