बिहार: अब ऑक्सीजन की कमी के कारण कोरोना मरीजों की नहीं जाएगी जान, पटना में किल्लत हुई दूर

पटना. करोना महामारी में ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए बिहार समेत पूरे देश में त्राहिमाम है. यहां तक कि देशभर में ऑक्सीजन की आपूर्ति बहाल करने के लिए पीएम मोदी को विशेष पहल करनी पड़ी. रेलवे के द्वारा भी ऑक्सीजन स्पेशल रेल गाडियों को चलना पड़ा जिसके बाद अब स्थिति धीरे-धीरे सामान्य होते जा रही है. बिहार में शुरू के दिनों में पूरे राज्य में ऑक्सीजन की किल्लत के कारण अफरा तफरी रही. कई अस्पतालों ने कोरोना मरीज के इलाज में हाथ खड़े कर दिए, ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण कितने कोरोना मरीजों की सांसें अटकी रहीं. पर अब स्थिति सामान्य होते जा रही है और पटना के हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन की सप्लाई नियमित की जा रही जा रही है.
बिहार में ऑक्सीजन की स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है. सरकारी हॉस्पिटलों के साथ-साथ निजी नर्सिंग होम में भी ऑक्सीजन सप्लाई लगातार की जा रही है. जिस हॉस्पिटल को जितनी ऑक्सीजन की जरूरत है उन्हें सिलेंडर दिया जा रहा है. पटना जिला प्रशासन के द्वारा इसकी लगातार मॉनिटरिंग भी की जा रही है . हालांकि पटना के रुबन मेमोरियल हॉस्पिटल में मैनेजर अजय घोष का कहना है कि ऑक्सीजन उन्हें मिल रहा है लेकिन जितनी जरूरत है उसके अनुपात में उनके पास सिलेंडर नहीं पहुंच पा रहा है, लेकिन स्थिति पहले से सुधरी जरूर है. अब मरीजों को कोई परेशानी नहीं हो रही है .

ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर पटना के प्राइवेट राजेश्वर हॉस्पिटल का कहना है कि स्थिति सामान्य है. अस्पतालों को जितनी ऑक्सीजन की जितनी जरूरत है, आपूर्ति की जा रही है. सरकार की व्यवस्था से हॉस्पिटल मैनेजमेंट खुश हैं. हॉस्पिटल के कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें समय से ऑक्सीजन सिलेंडर की सप्लाई अब मिल रही है. दो-तीन दिन पहले तक ऑक्सीजन के बिना काफी मुस्किलों का सामना करना पड़ रहा था, लेकिन अब समय से उन्हें ऑक्सीजन को सप्लाई मिल रही है. राजेश्वर हॉस्पिटल में तैनात मजिस्ट्रेट अनिल कुमार का दावा है कि ऑक्सीजन नियमित तौर पर मुहैया कराई जा रही है.
पटना के बोरिंग रोड स्थित निजी अस्पताल उदयन हॉस्पिटल ने भी माना है कि ऑक्सीजन की आपूर्ति पहले की अपेक्षा बहुत सुधरी है. हॉस्पिटल के ऑक्सीजन इंचार्ज आशीष कुमार का कहना है कि जरूरत के हिसाब से उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराया जा रहा है. फिलहाल उन्हें हॉस्पिटल की गाड़ी भेज कर रोजाना ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिलिंग करानी पड़ रही है. ऑक्सीजन की कमी अभी पूरी तरह से ठीक नहीं हुई है लिहाजा मरीजों को भी जरूरत के अनुसार ही ऑक्सीजन दिया जा रहा है ताकि ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी जरूरतमंद मरीजों को परेशानी ना हो.

Input- News 18