इस प्यार को क्या नाम दूं! लड़के के पीछे पड़ी लड़की, साथ निभाया तो…

इस प्यार को क्या नाम दूं! लड़के के पीछे पड़ी लड़की, साथ निभाया तो…

समस्तीपुर में एक अजीबो-गरीब प्यार का मामला सामने आया है। इस प्यार को क्या नाम दिया जाए सब कन्फयूज हैं। शनिवार को ऐसी ही एक रोमांचक घटना सामने आई जिसमेंं प्यार और पिटाई का आरोप और प्रत्यारोप है। इसमें कौन किसके पीछे पड़ा कहना मुश्किल है। बताते चलें कि अंगारघाट थाना क्षेत्र के सुपौल निवासी धर्मेंद्र झा के पुत्र नीतीश कुमार द्वारा पुलिस के समक्ष दिए बयान के आधार पर स्थानीय थाने में एक प्राथमिकी दर्ज हुई है। इसमें नरहन के मंगुनु चौधरी, शिवचंद्र झा, उत्तम चौधरी, बेबी देवी समेत आठ से 10 व्यक्ति व एक महिला को नामजद किया गया है। कहा है कि युवक नरहन स्थित अपनी बहन के घर गया था। विगत 16 जनवरी की रात्रि एक लड़की ने उसके मोबाइल पर फोन किया और शादी करने के लिए बोलने लगी। दूसरे दिन 17 जनवरी को अपनी बहन के घर से अपने घर के लिए निकला तो रास्ते में जबरदस्ती उक्त लड़की उसके पीछे पड़ गई और उसके घर तक आ गई।

लड़की के घर वालों को फोन कर जानकारी देते हुए उसे ले जाने को कहा। बोलेरो से चालक आकाश कुमार और शिवचंद्र झा पहुंचे। लेकिन, पलक कुमारी जाने से इंकार कर गई। जब जबरदस्ती ले जाने लगे तो उसने मेरा हाथ पकड़ ली। काफी मान मनौव्वल के बाद लड़की मौसी के घर जाने को राजी हुई। आकाश और शिवचंद्र उसे मौसी के घर नहीं ले जाकर अपने घर नरहन चले आए। वहीं मुझे भी एक कमरे में बंद कर करीब 8 से 10 व्यक्ति और एक औरत राइफल, बंदूक, पिस्तौल, डंडा से लैस होकर मारपीट करने लगे। वह बेहोश हो गया। उसे जब होश आया तो खुद को उत्तम चौधरी के कमरे में बंद पाया। सूचना पर घरवाले पहुंचे और युवक को वापस अपने घर ले आए। युवक की स्थिति खराब होने लगी तो इलाज के लिए चिकित्सक के पास ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने दोनों किडनी खराब होने की बातें बताई। दाहिने पैर की हड्डी टूट गया। बेहतर इलाज के लिए आईजीआईएमएस पटना में इलाज करवाया। थानाध्यक्ष कृष्ण चंद्र भारती ने बताया कि कांड अंकित कर पुलिस मामले की जांच कर रही है।