प्राथमिकी दर्ज करने में आनाकानी कर रही पुलिस, कोर्ट से दर्ज करानी होती है प्राथमिकी,विधानसभा सत्र में उजियारपुर विधायक ने उठाये कई मुद्दे

बिहार विधानसभा की चल रही सत्र में स्थानीय विधायक आलोक कुमार मेहता क्षेत्रीय मुद्दे के साथ बिहार मूल समस्याओ को सदन के पटल पर पुरजोर तरीकों से रखा । विधायक ने बताया कि इन दिनों थाने में कुछ बड़ी आपराधिक घटना को छोड़ कर कोई अन्य मामलों में प्राथमिकी दर्ज नही की जाती है । उन्होंने ने बताया कि चाहे वह जमीनी विवाद से सम्बंधित मामले को या साइबर अपराध से जुड़े मामले । इन मामलों को थानाध्यक्ष सुनना भी पंसद नही करते । थक हार कर लोग कोर्ट का सरन लेते है । जिसके बाद प्राथमिकी दर्ज की जाती है । यैसा सिर्फ उजियारपुर विधानसभा क्षेत्र में नही पूरे बिहार के थानों में हो रहा है । लेकिन सरकार कहती है। हम जीरो टॉलरेंस की नीति को अपनाते है। हमे इसे सदन के पटल पर रखा है ।इसके साथ ही किसानों को नील गाय और जंगली सुअरों के कारण हो रही नुकसान को सदन में उठाया है। किसानों की बिहार में हो रही उपेक्षा और बदहाली को भी सदन में उठाया है । खाश कर मछली पालन से लेकर एलाइड कृषि तकनीक पर ध्यान आकृष्ट कराया है । लेकिन सरकार किसान बजट की राशि मे कटौती कर उन्हें बदहाली की ददल में धकेलने का काम कर रही है। उपर से तीन कृषि कानून थोपकर किसानों अत्याचार का अंत कर दिया है । सरकार पलायन रोकने का दम भर रही है लेकिन मनी ऑर्डर प्रथा को कब खत्म करेगी । बिहार के लोग रोजगार नही मिलने के कारण दूसरे प्रदेशों के रूख कर रहे है । जहाँ से वह अपनी मेनहत की कमाई को मनी ऑडर कर रहे है । हमे इस प्रथा को खत्म करने की जरूरत है । इसके अलावे समस्तीपुर डीआरएम ऑफिस रोड से लेकर ताजपुर भाया उजियारपुर रोड निर्माण का उठाया मुद्दा। जो वर्ष 2007 में ही बनी थी । अब पूरी तरह जर्जर हो चुकी है । इस सड़क से करीब 2 लाख 50 हजार आबादी जुड़े है । इसके साथ ही क्षेत्र के अन्य मुुुुद्दों को सदन मेंं उठाया है । सरकार की ओर से भी इन सभी मुद्दों पर सकारात्मक पहल की जा रही है । इधर राजद कर्यकर्ता ने स्थानीय विधयक को स्थानीय मुद्दों को उठाने को लेकर बधाई दी है । जिसमे प्रखंड अध्यक्ष मो जाबिर हुसैन, मीडिया प्रभारी राज दीपक, सुरेन्द्र राय, महेंद्र राय, अशोक कुमार, अशोक सिंह, नंद किशोर महतो, चंदन प्रसाद सहित अन्य लोगो ने विधायक की सराहना करते हुए बधाई दी।