बिहार का ये राशन कार्ड देखकर हिल जाएंगे…. एक परिवार में हिंदू और मुसलमान दोनों मिलाकर 68 लोग, फर्जीवाड़े की हद है

वैशाली/क्या आपने कभी सुना है कि किसी एक राशन कार्ड में परिवार के 60 से ज्यादा सदस्यों का नाम एक साथ दर्ज हो? यही नहीं ये सदस्य दो अलग-अलग धर्मों से संबंधित हों। सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन बिहार के वैशाली में ऐसा ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, यहां एक राशन कार्ड में एक साथ 68 लोगों के नाम दर्ज हैं। इसमें भी सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि इस राशन कार्ड पर हिंदू और मुस्लिम दोनों ही समुदायों के नाम शामिल हैं। इस खुलासे के बाद वरिष्ठ अधिकारी भी सन्न रह गए। तुरंत ही उन्होंने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

गरीब परिवारों को राशन देने के लिए सरकार की ओर से ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड’ योजना चलाई जा रही है। वैशाली में इसी योजना में गड़बड़ी का अनोखा मामला सामने आने के बाद प्रशासन हरकत में आया। महुआ एसडीओ संदीप कुमार ने चेहरकलां खंड विकास अधिकारी (BDO) कुमुद रंजन को निर्देश दिया है कि वे इसकी जांच करें और पीडीएस डीलर संजय कुमार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करें।

अधिकारियों ने दिए मामले की जांच के आदेश

महुआ एसडीओ संदीप कुमार ने बताया, ‘मैंने बीडीओ को धोखाधड़ी के लिए डीलर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने और खाद्यान्न की बरामदगी सुनिश्चित करने का निर्देश दिए हैं।’ बताया जा रहा कि हाल ही में जिले के विभिन्न ब्लॉक में राशन कार्ड धारकों के बीच खाद्यान्न वितरण की जांच के दौरान इस मामले का खुलासा हुआ है। अधिकारी यह जानकर दंग रह गए कि एक ही परिवार को 38 क्विंटल से अधिक खाद्यान्न दिया गया था। इस परिवार की मुखिया जुबैदा खातून हैं और इसके सदस्यों में नवीन कुमार समेत कई अन्य नाम शामिल हैं।

जन वितरण प्रणाली दुकानदार पर फर्जीवाड़े का आरोप
शुरुआती जांच में पता चला है कि जन वितरण प्रणाली दुकानदार ने एक परिवार के 68 लाभार्थियों की सूची मुफ्त खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए जमा की है। राशन कार्ड पर प्रत्येक परिवार का सदस्य प्रति माह 5 किलोग्राम गेहूं या चावल पाने का हकदार है। लेकिन कोरोना संकट बढ़ने के बाद लॉकडाउन के दौरान करीब छह महीने के लिए राशन कार्ड धारकों को मुफ्त खाद्यान्न दिया गया था। कार्ड धारकों को एक किलो चना भी फ्री दिया गया था। अब इस धांधली की शिकायत मिलने पर बीडीओ ने जन वितरण प्रणाली दुकानदार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

Source-NBT