लोग अपनी बाइक में पेट्रोल इंजन हटवाकर लगवा रहे है इलेक्ट्रिक इंजन, जानें कितनी बढ़ेगी स्पीड और कितना आएगा खर्च

भारत में पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। पेट्रोल और डीजल पर अनेकों लोग और विपक्षी पार्टियां अपना विरोध प्रदर्शन दर्ज कर रहे है। भारत में किसी भी तरह की समस्या आए उससे निपटने के लिए लोग अनेकों उपाय ढूंढ निकालते हैं और कुछ इस तरह का उपाय, इस बार भी भारत के लोगों ने ढूंढ निकाला है। बता दें कि भारत ही ऐसी जगह है जहां पर हर तरह का जुगाड़ जल्द से जल्द उपलब्ध हो जाता है।

लोग अपने पेट्रोल के पैसे बचाने के लिए बाइक से पेट्रोल का झंझट पूरी तरह से खत्म कर देना चाहते हैं इसके लिए वह अपनी बाइक में लगे पेट्रोल इंजन को इलेक्ट्रिक इंजन में बदल रहे हैं। इंजन को हटवा कर बैटरी लगवाने का सिर्फ एक ही मकसद है कि वह पेट्रोल का खर्चा नहीं उठा पा रहे हैं। यह खबर सोशल मीडिया पर अनेकों लोगों द्वारा शेयर की जा रही है और इसमें जो मकैनिक है उसका कहना है कि जब आप पेट्रोल का इंजन हटाकर इलेक्ट्रिक इंजन लगवा लेते हैं, तो आपकी जेब से 10 हजार रूपए का खर्च बच जाता है। बाइक भी 65 से 70 किलोमीटर तेज दौड़ने लगती है। इस जानकारी को मैकेनिक ने साझा किया है और बताया है की पूरा कार्य कैसे होगा। पेट्रोल के इंजन को सबसे पहले आपको हटाना होगा और वहां पर गियर बॉक्स डालना होगा।

जैसे ही यह इलेक्ट्रिक इंजन लग जाएगा तो आपकी मोटरसाइकिल किसी स्कूटी की तरह चलने लगेगी। जब बैटरी पूरे तरीके से चार्ज हो जाएगी तो वह आसानी से 40 किलोमीटर तक चली जाएगी और अगर आपको पूरे दिन के लिए इसको चार्ज करना है तो यह 300 किलोमीटर तक जा सकती है। लेकिन, बैटरी-बैटरी का फर्क होता है। इसमें सबसे ज्यादा इस बात का फर्क होता है कि आप कौन सी बैटरी का इस्तेमाल कर रहे हैं। जानकारी के लिए बता दें कि अगर आप ऐसा कार्य करते हैं तो यह कानून का उल्लंघन होगा क्योंकि ऐसे काम करने वालों के लिए मोटर व्हीकल एक्ट 1988 के सेक्शन 52 तैयार किया गया है और अगर कोई भी इस कानून की अवमानना करता है तो उसके ऊपर सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही जुर्माना भी देना होगा और किसी भी तरह का इंश्योरेंस क्लेम भी नहीं मिलेगा।