दरभंगा में हाईकोर्ट के बेंच की स्थापना की जगी आस

विधानसभा में बुधवार को नगर विधायक संजय सरावगी की ओर से दरभंगा में हाईकोर्ट के बेंच की स्थापना की मांग उठाई गई। श्री सरावगी की मांग पर सदन में प्रदेश के विधि मंत्री ने सदन को अवगत कराते हुए कहा कि यह मामला भारत सरकार के क्षेत्राधिकार का है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हाईकोर्ट से प्रस्ताव आने पर राज्य सरकार इस पर विचार करेगी। इसलिए श्री सरावगी अपने इस प्रस्ताव को वापस लें। इस पर श्री सरावगी ने सदन को अवगत कराया कि संयुक्त बिहार में दो हाईकोर्ट एक पटना तथा दूसरा रांची में कार्य करता था। इन दिनों झारखंड सरकार की ओर से झारखंड हाईकोर्ट के दूसरे बेंच की स्थापना को लेकर दुमका में प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मात्र चार करोड़ की आबादी में झारखंड सरकार अपने राज्य में हाईकोर्ट के दूसरे बेंच की स्थापना की प्रक्रिया शुरू कर सकती है तो फिर आज जब बिहार की आबादी 13 करोड़ है तो फिर राज्य सरकार हाईकोर्ट के दूसरे बेंच की स्थापना की पहल क्यों नहीं कर सकती है।

इस पर विधि मंत्री ने कहा कि उच्च न्यायालय से प्रस्ताव आने पर विचार किया जाएगा। श्री सरावगी ने कहा कि किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, सहरसा मधुबनी, दरभंगा सहित विभिन्न जिलों में लाखों लाख की संख्या में मामले पेंडिंग हो रहे हैं। ऐसे में मिथिला की राजधानी दरभंगा में हाईकोर्ट के बेंच की स्थापना होने से शीघ्र न्याय मिलने को लेकर एक ऐतिहासिक फैसला हो सकेगा। इस पर राज्य सरकार को गंभीरता से विचार करना चाहिए।

अशोक पेपर मिल को शुरू करने की मांग:

दरभंगा। हायाघाट के विधायक डॉ. रामचन्द्र प्रसाद ने गैर सरकारी संकल्प एवं शून्यकाल के दौरान बुधवार को अशोक पेपर मिल को एनसीएफएल कंपनी द्वारा 18 अगस्त 1997 को 471 कर्मियों के साथ अधिग्रहण करने के बाद अब तक इन कर्मियों को वेतन का भुगतान नहीं होने का मुद्दा उठाया। इस समस्या के निदान के लिए विधायक डॉ. प्रसाद ने सदन के माध्यम से सरकार से मांग करते हुए कहा कि कर्मियों के बकाये वेतन का भुगतान के साथ बन्द पड़े अशोक पेपर मिल को अविलंब चालू कराया जाय ताकि इस क्षेत्र के लोगों को रोजगार मिल सके। डॉ. प्रसाद ने सदन को बताया कि अशोक पेपर मिल के चालू हो जाने से हायाघाट विधानसभा क्षेत्र ही नहीं, दरभंगा जिले में लोगों को बेहतर रोजगार का साधन उपलब्ध हो सकेगा। इस मिल को आरंभ कराने की दिशा में सरकार को निश्चित रूप से पहल करनी चाहिए।

Input- Jagran