बिहार की बेटी शादी के 17 साल बाद अपने बच्चों को पढ़ाते-पढ़ाते खुद भी की ग्रेजुएशन पूरी, फिर बनी डिप्टी कलक्टर, सभी कर रहे तारीफ

बिहार में आज हम एक ऐसी महिला के बारे में बात करने वाले हैं, जिसने शादी करने के 17 साल बाद बीपीएससी की परीक्षा पास की है और इतना ही नहीं बल्कि परीक्षा पास करके वह अफसर भी बन गई। महिला शादी होने के बाद से एक संयुक्त परिवार में रह रही थी।

यह कहानी औरंगाबाद जिले की है जहां पर पंचायती राज पदाधिकारी मुकेश कुमार की पत्नी शिखा सिन्हा ने 2015 में बी पी एस सी की परीक्षा दी थी। उनका कहना है कि वह बचपन से ही अफसर बनने के सपने देखती थी लेकिन उनको पता नहीं था कि उनका यह सपना एक दिन पूरा होगा। कम उम्र में शादी होने के चलते वह अपनी पढ़ाई की लगन को भूल गई थी।

बाद में उन्होंने फिर से इस पढाई को अपने बच्चों के साथ जारी किया। जब उनकी शादी हुई थी तो उन्होंने इंटर तक की पढ़ाई पूरी की थी। लेकिन फिर उनकी पढ़ाई रुक गई। शादी के बाद से वह ससुराल की जिम्मेदारी उठाने लगी और उसी में व्यस्त हो गई। लेकिन उनके अंदर एक आवाज थी जो हमेशा से ही कहती थी कि उसका सपना अभी पूरा नहीं हुआ है, जिसके चलते उन्होंने फिर से पढ़ाई शुरू की और शादीशुदा महिलाओं के बीच एक अलग छाप छोड़ी। उनके पति गया में एक्साइज इंस्पेक्टर का काम कर रहे थे। लेकिन, अब वह बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं।

अब वह उत्तर प्रदेश में ना रहते हुए बिहार में रह रहे हैं। इसी के साथ साथ शिखा सिन्हा भी अपने पति के साथ बिहार आ गई और वह अपने घर वालों का भरण पोषण कर रही हैं। वह कहती हैं कि सुबह वह 5:00 बजे उठ जाती हैं और 12:00 बजे सो जाते हैं। साथ ही साथ वह बच्चों को खुद पढ़ाती हैं और बच्चों को पढ़ाते हैं हुए उनके खुद के कॉन्सेप्ट भी क्लियर हो जाते हैं। अफसर की परीक्षा देने के लिए उन्होंने डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम करके ग्रेजुएशन पूरा किया और 2015 में बीपीएससी की परीक्षा दी। इस बीपीएससी परीक्षा का रिजल्ट 2018 में आया और वह अफसर बन गई ‌।