बिहार के एथलीट आनंद कुमार के लिए मसीहा बने सोनू सूद, गाजियाबाद में कराया घुटनों का ऑपरेशन

अक्सर फिल्मी लाइफ में खलनायक की भूमिका निभाने वाले बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद अब लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आ रहे हैं। लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों की मदद करने के बाद जबरदस्त सुर्खियों में आए सोनू सूद आज भी जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। बिहार के नालंदा जिले के नूरसराय थाना क्षेत्र के पपरनौसा गांव निवासी वरुण विक्रम सोनभद्र के पुत्र व एथलीट आनंद कुमार की मदद के लिए सोनू सूद उस वक्त सामने आए जब घुटने की समस्या को लेकर पीड़ित शख्स ने सोनू सूद को ट्वीट किया। 

दरअसल ट्रिपल जंप के एथलीट आनंद को दिसंबर 2018 में हरियाणा के रोहतक में नेशनल गेम पार्टिसिपेंट के दौरान घुटने में गंभीर चोटें आई थीं। इसके बाद वह काफी परेशान रहने लगा। परेशानी बढ़ने पर उसने सोनू सूद को ट्वीट कर अपनी परेशानी बतायी। रिट्वीट करते हुए सोनू सूद ने आनंद के लिए गाजियाबाद के हीलिंग ट्री हॉस्पिटल में मुफ्त ऑपरेशन की व्यवस्था कराई। 3 फरवरी 2021 को आनंद को अस्‍पताल से छुट्टी भी मिल गयी। 

गौरतलब है कि बिहार के लोगों की मदद करने के लिए सोनू सूद हमेशा आगे रहते हैं। यही कारण है कि बिहार में उनके कई प्रशंसक बन चुके हैं। आनंद के पिता वरुण विक्रम सोनभद्र ने बताया कि मैं वकालत की पढ़ाई की पर वकालत नहीं करता हूँ। मैं एक किसान हूँ। खेती-बारी से अपने परिवार का भरण-पोषण करता हूँ। एथलेटिक आनंद बिहार में गोल्ड मेडल हुआ। लेकिन, आगे खेलने के लिए बिहार सरकार से कोई मदद नहीं मिल सकी। नेशनल गेम खेलने के दौरान आनंद का बायां पैर का एशियल टूट गया था। इसके ऑपरेशन में काफी रकम की जरूरत थी। इसके लिए मैं सक्षम नहीं था। ऐसे विकट समय पर सोनू सूद मेरे बेटे के लिए मसीहा बनकर आये और मेरे बेटे का ऑपरेशन करवाया।